बालोद। नईदुनिया न्यूज

सरकारी रेस्ट हाउस में 22 वर्षीय युवती का पहचान युक्त वीडियो वायरल होने के बाद उसकी सुरक्षा को लेकर तमाम सामाजिक संगठनों के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष अमित चोपड़ा तथा युवा मोर्चा के सैकड़ों सैनिकों ने पीड़ित महिला के साथ-साथ उन महिलाओं की रक्षा के लिए हाथ बढ़ा दिया है। जो लगातार कुछ स्वार्थी तरह के लोगों तथा बेलगाम अफसरों की लापरवाही की वजह से जीवन भर सर छुपाने के लिए मजबूर हो जाती है। जिला मुख्यालय के सरकारी रेस्ट हाउस में छापामार कार्रवाई के दौरान पकड़े गए युवक-युवती का मामला जहां लगातार तूल पकड़ता जा रहा हैे तो वहीं इस मामले में जिम्मेदार अफसरों की मौजूदगी के दौरान 22 वर्षीय अविवाहित युवती का पहचान किए जाने वाला चेहरा का वीडियो वायरल होने के बाद नगर में जहां भूचाल की स्थिति बन गई हैे। अधिकारियों की मौजूदगी में इस तरह का वीडियो वायरल होने को लेकर नगर के लगातार सामाजिक संगठन के साथ-साथ महिला संगठन भी विरोध कर रहे हैं। इस मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के लोग भी कांग्रेस सरकार की कार्यप्रणाली में महिलाओं के साथ हो रही बदसलूकी के विरोध में आंदोलन करने की तैयारी में है। ज्ञात हो कि गत दिनों नगर के सरकारी रेस्ट हाउस में एक बालिक युवक-युवती कमरे में रुके हुए थे। आम आदमी को सरकारी रेस्ट हाउस का कमरा किस आधार पर मिला, इस बात को लेकर किसी मुखबिर ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जिसके उपरांत पुलिस ने यहां छापामार कार्रवाई की। छापामार कार्रवाई के दौरान रेस्ट हाउस के एक कमरे में एक युवक तथा युवती रुके हुए थे। इस दौरान वहां तमाशा देखने के लिए कुछ लोगों की भीड़ लग गई। इस दौरान पुलिस प्रशासन के साथ-साथ राजस्व विभाग के जिम्मेदार अफसरों ने दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया। जिसके चलते वहां अफरा-तफरी का माहौल बना। इस दौरान दरवाजा खुला तथा जिम्मेदार अफसरों के साथ कुछ तमाशबीन लोग भी कमरे के अंदर घुस गए। कमरे के अंदर युवती मौजूद लोगों की भीड़ देखकर चेहरे तथा सर को कंबल में ढक लिया। परंतु जिम्मेदार लोग, तमाशबीन लोगों को बिना बाहर किए लड़की का मजाक बनाते हुए, उसके चेहरे से कंबल हटाते रहे और वीडियो बनाते रहे। महिला संगठन के लोग भी इस मसले पर जहां मानव आयोग से लेकर महिला आयोग तक जाने की तैयारी कर रहे हैं। तो वहीं अब भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष अमित चोपड़ा के नेतृत्व में भी सैकड़ों लोग सड़क पर उतरकर मामले में जिम्मेदार अफसरों के साथ उन लोगों पर कार्रवाई की मांग की है, जिनकी उपस्थिति में यह वीडियो बना तथा सोशल मीडिया में वायरल हुआ।

पुलिसिया कार्यप्रणाली पर भी उठ रहे सवाल

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना करने वाले पहचान युक्त एक युवती का वीडियो वायरल करने वालों के विरुद्घ अब तक किसी प्रकार की कार्रवाई न किए जाने से पुलिस कार्यप्रणाली को लेकर भी सवाल उठने लगे हैें। तो वहीं इस पूरे मामले को राजनीतिक दबाव के चलते दबाए जाने का आरोप भी पुलिस प्रशासन पर चौक चौराहों पर लगने लगा है। जबकि भारतीय जनता पार्टी के किसान आंदोलन के दौरान तथा भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के साथ साथ अनेक सामाजिक संगठन इस मामले को लेकर नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। बावजूद उसके दोषियों पर किसी प्रकार की कार्रवाई ना होने से आम जनता का विश्वास पुलिस प्रशासन से भी उठने लगा हैे। शीघ्र ही अगर पुलिस प्रशासन द्वारा दोषियों पर कार्रवाई नहीं की गई तो भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के सैनिकों के साथ-साथ नगर के अनेक तमाम समाजिक संगठन सड़कों पर उतरने के लिए बात होंगे और एक महिला का मजाक बनाने वाले को सबक सिखाने के लिए अगर वह कोई गलत कदम उठाते हैं तो उसकी पूरी जिम्मेदारी कानून के उन रखवालों की होगी, जो अब तक मामले में बड़ी कार्रवाई करने की बजाय चुप्पी साधे बैठे हैें

वर्सन

आज सोमवार को इस मसले पर समस्त युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग करेंगे और यदि उसके बाद भी कार्रवाई नहीं होती है, तो माता-बहनों के सम्मान की रक्षा के लिए जिले भर में सैकड़ों युवा मोर्चा के सैनिक सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे।

- अमित चोपड़ा भाजयुमो जिला अध्यक्ष

Posted By: Nai Dunia News Network