बालोद। निवेशकों से विभिन्न योजनाओं एवं आरडी, एफड़ी पर करोड़ों रूपयें जमा करवाकर फरार हुए चिटफंड का डायरेक्टर को बालोद पुलिस ने गिरिफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस के अनुसार देवार सिंह भुआर्य के द्वारा राजहरा थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया गया था कि 2012 में उन्नति रियल स्टेट वेनचर प्रायवेट लिमिटेड, उन्नति ब्रिडिंग एंड रियरिंग फार्म्स इंडिया लिमिटेड कंपनी द्वारा नगदी जमा करने पर अधिक ब्याज व विभिन्न योजना, आरडी, एफडी में रकम दुगुना हो जाना व एजेंट बनकर निवेशकों से रकम लाकर कंपनी में जमा कराओगे तो तुम्हे कमीशन दिया जायेगा कहने पर प्रार्थी द्वारा स्वंय व एजेंट बनकर निवेशकों को कंपनी का स्कीम बताकर पैसा जमा करवाया गया।

2015 में उक्त कंपनी के डायरेक्टर द्वारा चिखलाकसा में खोला गया था। जहां कुछ आफिस को बंद कर फरार हो गए। जिस पर राजहरा थाना में शिकायत की गई थी। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया था। साइबर सेल की टीम का रहा विशेष सहयोगः साइबर सेल की टीम के द्वारा तकनीकी विश्लेषण तथा मुखबीर से प्राप्त सूचना के आधार पर 20 मई को दुर्ग, रायपुर रवाना किया गया था, जिस पर टीम द्वारा दिन भर उनके आने जाने वाले स्थानों पर फोकस किया गया व आरोपी को कई घंटो तक इंतजार करने के पश्चात टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया।

दुष्कर्म के आरोपित वीरेंद्र को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बालोद पुलिस ने अपहरण व दुष्कर्म के मामले में आरोपित वीरेंद्र साहू को गुजरात के वडोदरा क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। युवक डौंडीलोहारा क्षेत्र का रहने वाला है। आरोपित ने नाबालिगलड़की को शादी का प्रलोभन देकर अपहरण कर गुजरात ले गया था। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर पहले गुमशुदगी का मामला दर्ज किया था। जब लड़की की बरामदगी हुई और युवक से पूछताछ की गई तो दुष्कर्म की बात सामने आई। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ पुलिस ने अपहरण के अलावा दुष्कर्म व पाक्सो एक्ट के तहत मर्ग कायम किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close