पांडुका। नईदुनिया न्यूज

प्रकृति का खेल निराला है अषाढ़ और सावन में बारिश तो हुई लेकिन कम। भादो महिना की समाप्त होते होते इन्द्रदेव इस तरह से मेहरबान हुए कि बारिश के तीन महिने का कसर 24 घंटे में पूरा होने जा रहा है। वैसे जो बारिश की शुरूआत एक सितंबर से हो गई थी। बीते पांच सितंबर से अनवरत बारिश का सिलसिला जारी है। पिछले 24 घंटे में हुई बारिश के चलते अंचल के नदी नाले उफान पर है। भारी बारिश के चलते जन जीवन ठप रहा। पांडुका के रोड में सन्नााटा पसरा रहा। बिजली भी आंख मिचौली खेलती रही। श्यामनगर के युवा व्यापारी नवीन कुमार साहू का कहना है कि यह बात समझ से परे है।

फिंगेश्वर अंचल में नदी नाले उफान पर

फिंगेश्वर। शुक्रवार सुबह नौ से दोपहर एक बजे तक के जबरदस्त बारिश ने नगर के हर मुहल्ले को पानी पानी कर दिया। आसपास ग्रामीण क्षेत्रो में जमकर बरसात से नदी-नाले उफान पर हैं। कुछ ही घंटों की बारिश ने किसानों पानी की कमी को पूरा कर दिया। झमाझम बारिश से गलियों और नालियों के ऊपर पानी बहता रहा। सर्व शिक्षा अभियान (बीआरसीसी) कार्यालय के सामने पूरी तरह से पानी भर गया, जिससे शिक्षकों को कार्यालय आने जाने में काफी परेशानी होती रही। जनपद कार्यालय के परिसर में भी हर तरफ पानी भर गया। बारिश से गलियों में बहता पानी लोगों के घरों में पहुंचा।