फोटी 22 बीएलडी-60

बलौदाबाजार। नईदुनिया न्यूज

पूर्व विधायक जनकराम वर्मा के नेतृत्व में बलौदाबाजार विधानसभा क्षेत्र के किसानों ने कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चैबे से गंगरेल बांध से कुम्हारी टेंक में पानी लाने के संबंध में सौजन्य मुलाकात की। साथ में बलौदाबाजार विधानसभा क्षेत्र के किसानों ने समस्याओं से अवगत कराया। मंत्री जी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छग के कोई भी नदी, नाला और जलाशय में पानी की कमी को दूर करने के लिए प्रयासरत है इसी प्रकार शिवनाथ नदी से कुम्हारी जलाशय में पानी लाने का प्रक्रिया जारी है अतिशीघ्र सर्वे करवाकर 40 ग्रामों में हो रही पानी की समस्या को दूर की जायेगी। मंत्री से खपराडीह माइनर के सबंधं में भी चर्चा हुई मंत्री द्वारा तत्काल सर्वे करवाकर जो माइनर अधूरा है उसे पूरा किया जाएगा। मंत्री से सौजन्य मुलाकात में प्रमुख रूप से क्षेत्र के किसान भरत वर्मा धोबनीडीह अध्यक्ष किसान संघ, द्वारिका वर्मा झीपन, निलेश झीपन, विनोद संरपच खपराडीह, दिनेश्वर अमेरी, रमेश वर्मा रवान, दानी साहू आदि उपस्थित थे।

--------

अधूरी नाली में कचरा जाम, लोग परेशान

फोटी 22 बीएलडी-61

बलौदा बाजार/कोनारी। पलारी क्षेत्र में ग्राम कोनारी में नाली निर्माण अधूरा होने के कारण ग्रामीण परेशान है। ग्राम के वार्ड नंबर 12 व 13 के ग्राम वासी आपस में लड़ रहे हैं, क्योंकि बारिश का पानी उनके घरों में घुस रहा हैं। ग्राम में नाली निर्माण कच्ची और आधा पक्की है। ऊपर नाली बीच मिट्टी डाल कर पाट दिया गया है। ग्रामीण आरोप लगा रहे कि नाली निर्माण की राशि को बीच में अपर्याप्त बताकर रोक दिया गया हैं। ग्रामीणों ने मांग की हैं कि नाली का निर्माण पूरा जल्दी से करे। सरपंच राधिका नेताम तथा सरपंच प्रतिनिधि व पति विश्राम इसका दायित्व नहीं ले रहे। बारिश निकलने को है फिर भी नाली निर्माण पूरा नहीं हो पाया है।

--------

नरवा, गरूवा के बेहतर क्रियान्वयन के लिए लगी 'सुझाव पेटी'

फोटी 22 बीएलडी-62

बलौदाबाजार। राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी के संबंध में आम जनता से सलाह लेने के लिए जिला कार्यालय में 'सुझाव पेटी' लगाई गई है। जन-चौपाल कक्ष के प्रवेश द्वार के समीप इसे लगाया गया है। कोई भी नागरिक सरकार के इन महत्वपूर्ण प्रकल्पों के विकास के संबंध में अपना सुझाव लिखित में दे सकता है। प्रति सप्ताह इसे खोलकर प्राप्त सुझावों की समिति द्वारा परीक्षण कराया जाएगा। इसे राजधानी रायपुर भी भेजा जाएगा। यदि सुझाव व्यावहारिक एवं उचित लगे तो इसका जिले में क्रियान्वयन भी किया जाएगा। इस तरह की पेटी जिला पंचायत कार्यालय में भी लगाई गई है। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल एवं जिला पंचायत के सीईओ आशुतोष पाण्डेय ने आम नागरिकों को अपना महत्वपूर्ण सुझाव देकर योजना में भागीदारी का अनुरोध किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network