बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ बलौदाबाजार जिले में पंचायत चुनाव के दौरान आपस में ही कांग्रेस के कार्यकर्ता भिड़ गए। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। एक तरफ चुनाव चलता रहा और दूसरी तरफ जिला कार्यालय के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में उलझते रहे। हल्की झूमा-झटकी के साथ वहां मतदान और मतगणना के दौरान लगातार तनाव का माहौल बना रहा। बताया जा रहा है कि जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी चुनने के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता दो गुटों में बंट गए और इसके बाद यह विवाद शुरू हुआ। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद यह हंगामा शांत हुआ। बताया जा रहा है कि बलौदाबाजार में अभी भी तनाव की स्थिति बनी हुई है।

बताया जा रहा है कि कुल 22 जिला पंचायत सदस्य चुनकर आए हैं। इनमें भाजपा के पास संख्या बल नहीं होने की वजह से पार्टी ने अध्यक्ष पद के लिए अपना कोई प्रत्याशी नहीं उतारा। कांग्रेस की ओर से राकेश वर्मा का नाम तय हुआ था। अचानक कांग्रेस मुख्यालय के आदेश पर क्षेत्र क्रमांक 16 के जीते हुए प्रत्याशी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया। इसके बाद वहां हंगामा शुरू हो गया और दोनों गुटों में मारपीट की नौबत आ गई। इस विवाद के बाद नाम वापसी का समय भी निकल गया और इसके बाद भाजपा ने राकेश वर्मा को समर्थन दिया और वे जिला पंचायत अध्यक्ष चुने गए।

इसके बाद उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस में गुटबाजी देखने को मिली और इस पद के लिए कांग्रेस की ओर से ही दो अलग-अलग गुटों से उम्मीदवारों के नाम घोषित किए गए। इस चुनाव में सरिता ठाकुर उपाध्यक्ष चुनी गईं। इस बात पर भी दोनों गुटों में देर तक हंगामा चलता रहा। हंगामे को बढ़ते देख स्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस बल को भी तैनात किया था। आपसी-झड़प को पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर शांत कराया। कुल मिलाकर इस चुनाव के बाद बलौदाबाजार जिले में कांग्रेस में गुटबाजी खुलकर सामने आई है।

छत्तीसगढ़ में पंचायत चुनाव के तीसरे व अंतिम चरण का मतदान कुछ दिनों पहले संपन्न् हुए थे। राज्य के 27 जिलों के 53 विकासखंडों की 4,289 ग्राम पंचायतों में शांतिपूर्ण रहा। इसमें 53 लाख 68 हजार 875 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इनमें 26 लाख 93 हजार 144 महिला मतदाता, 26 लाख 75 हजार 696 पुरुष मतदाता एवं तृतीय लिंग के 35 मतदाता शामिल हैं।

Posted By: Himanshu Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket