Balodabazar News : बलौदाबाजार। लवन ब्लाक के क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन किए गए एक प्रवासी महिला मजदूर को प्रसव पीड़ा हुई। उसे तत्काल लाहोद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों और स्टॉप नर्स की देखरेख में महिला ने दो बच्चों को जन्म दिया। इसमें से एक बच्चा स्वस्थ है जबकि दूसरे की प्रसव के दौरान गर्भ में ही मौत हो गई। एक बच्चा और जच्चा दोनों फिलहाल स्वस्थ हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी और खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ राकेश प्रेमी के मार्गदर्शन में चिकित्सा व्यवस्था को दुरूस्त करने खास प्रयास किया जा रहा है।

इसी क्रम में 23 मई को लाहोद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ग्राम लवनबन के क्वारंटाइन सेंटर से आए प्रवासी महिला मजदूर मोनिका पटेल पति देवचरण पटेल उम्र 21 वर्ष का सुरक्षित प्रसव कराया गया। ग्रामीण चिकित्सा सहायक विक्रम सिंह बंजारे और फ्रेकलिन रात्रे के साथ स्टाफ नर्स ज्योति वर्मा के द्वारा सुरक्षित प्रसव कराया गया। जिससे एक बच्चे और उसकी मां पूरी तरह से स्वस्थ हैं। जबकि, दूसरे बच्चे की गर्भ में ही मौत हो जाने से उसे नहीं बचाया जा सका।

ग्रामीण चिकित्सा सहायक डॉ विक्रम सिंह बंजारे ने बताया कि गर्भवती मोनिका पटेल ने दो बच्चे को जन्म दिया जिसमें पहला बच्चा शाम को 5 बजकर 7 मिनट में हुआ। यह लड़का ढाई किलोग्राम का स्वस्थ है और दूसरा शाम 5.20 बजे लड़की हुई जिसका वजन डेढ़ किलोग्राम था। चह पेट में ही मृत हो गई थी। जिसका मृत प्रसव कराया गया। साथ ही प्रसूता मोनिका पटेल का कोविड-19 किट से जांच कराया गया जिसका रिजल्ट निगेटिव आया है।

Posted By: Anandram Sahu

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना