बलौदाबाजार (नईदुनिया न्यूज)। स्वयं को पुलिस बताकर दो भाइयों का अपहरण करने वाले एमबीबीएस डाक्टर कृतिवास उर्फ कृष्णा चौधरी समेत सात आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपित डाक्टर का संडी खरतोरा में अस्पताल है जहां वह लोगों का उपचार करता है। सभी आरोपितों को रिमांड पर जेल भेजा गया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार भारती साहू पति स्व. महेन्द्र साहू, निवासी ग्राम कारी ने 17 सितंबर को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 16 सितंबर की रात लगभग 1. 30 बजे एंबुलेंस (क्रमांक सीजी 22 डब्लू 0531) में अज्ञात चार लोग घर का दरवाजा खोलने के लिए कहा। जब वह दरवाजा खोली तो एक ने कहा कि मंै पलारी पुलिस सब इंस्पेक्टर हूं और ये सभी मेरे स्टाफ हैं।

मेरे बेटे यशवंत साहू के आते ही उसके साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट की। बड़े बेटे मनोज ने जब मारपीट करने से मना किया तो दोनों बेटोें को चारो लोग एंबुलेंस में बैठाकर ले गए। दूसरे दिन सुबह फोन से पैसे की मांग की तब यशवंत साहू व मनोज साहू ने फोन से बताया कि आरोपितों द्वारा उन्हें रायपुर रेलवे स्टेशन ले जाया गया।

जिसके बाद एक अन्य बोलेरो वाहन में बैठा कर राजनंदगांव की ओर ले जाया गया। इसके कुछ समय बाद बेटा मनोज साहू ने बताया कि उसे हसौद थाना ले जा रहे हैं और यशवंत को कुम्हारी मंे उतार दिये हंै। मेरा बेटा यशवंत साहू अभी तक घर वापस नहीं आया है।

पकड़े गए आरोपितों में नारायण साहू (36) निवासी ग्राम चिस्दा थाना हसौद, जिला जांजगीर चांपा, डा. कृतिवास उर्फ कृष्णा चौधरी (29) निवासी ग्राम संडी खरतोरा थाना पलारी, अमित कुमार रात्रे (29)निवासी टुंडरी थाना बिलाईगढ़, सुनील कुमार टंडन (33) निवासी लूटुडीह थाना पलारी, चंदन कर्ष (22) निवासी ग्राम चिस्दा थाना हसौद, प्यारेलाल (42) निवासी चिस्दा थाना हसौद, बंसी प्रसाद (39) निवासी ग्राम चिस्दा थाना हसौद शामिल हैं।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close