बलौदाबाजार (नईदुनिया न्यूज)। तेरह सूत्री मांग के साथ बलौदाबाजार जिले के सरपंचों ने काम बंद कलम बंद कर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए हैं। सरपंच संघ के द्वारा जनपद पचायत भाटापारा में धरना कर अधिकारियों को अवगत कराया जाएगा। यह जानकारी समस्त सरपंच संघ के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, सरपंच सदस्य द्वारा दिया गया है। सरपंच संघ ने अपनी तेरह सूत्री मांगों में सरपंचों एवं पंचों का मानदेय वृद्घि कर 20हजार व पांच हजार रुपये करने की मांग की। सरपंचों का पेंशन 10 हजार तक 50 लाख राशि तक सभी कार्यों में कार्य एजेंसी पंचायत को बनाया जाए। सरपंच निधि के रूप में 10 लाख रुपये, नक्सलियों द्वारा सरपंचों को मारे जाने पर 20 लाख आर्थिक सहायता की मांग की गई है।

15 वें वित्त के राशि को अन्य मद मैं अभिसरण नहीं किया जाए। 15 वें वित्त की राशि को जनपद व जिला सदस्य द्वारा अपने ही क्षेत्र दिया जाएगा। मनरेगा सामग्री राशि भुगतान हर 3 महीने किया जाए, मनरेगा निर्माण कार्य में 40 प्रतिषत अग्रिम राशि दी जाए, बीते दो वर्षों के कोरोना काल को देखते हुए सरपंचों व पंचों के कार्य काल दो वर्ष बढ़ाया जाए, ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि दो लाख करते हुए तत्काल राशि जारी करें, सरपंचों के अविश्वास प्रस्ताव अधिनियम में संशोधन, धारा 40 में संशोधन की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा गया। सभी मांगों पर सरपंच संघ के द्वारा बिलासपुर में प्रदेश के अध्यक्ष आदित्य उपाध्याय के अगुवाई में बिलासपुर में बैठक कर निर्णय लिया गया। जिसमें संपूर्ण संभाग जिला और जनपद के पदाधिकारी व सरपंच बड़ी संख्या में उपस्थित थे। जिसमें सर्वसम्मति से संपूर्ण छत्तीसगढ़ में सदस्यों के द्वारा काम और कलम बंद कर अनिश्चितकालीन हड़ताल में जाने की घोषणा की गई कोई भी सरपंच अपने पंचायत में किसी प्रकार का काम नहीं करेंगे नहीं पेपर पर साइन व सील नहीं लगाने की अपील की गई हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close