कसडोल। नईदुनिया न्यूज

राजस्व निरीक्षकों के अनिश्चित कालीन हड़ताल में चले जाने से क्षेत्र के जमीन सीमांकन, बटांकन व डायवर्सन सहित विभिन्ना अटक गए हैं।

ज्ञात हो कि राजस्व निरीक्षक संघ के प्रांतीय आह्वान पर कसडोल क्षेत्र के राजस्व निरीक्षक अपनी एक सूत्री मांग को लेकर जिला मुख्यालय में धरना देने चले गए हैं जिसके कारण इस क्षेत्र के किसानों को अपनी जमीन का सीमांकन सहित विभिन्ना कार्यों के लिए इधर उधर भटकना पड़ रहा है। इस संबंध में राजस्व निरीक्षक रमाकांत कैवर्त्य, सुदर्शन दुबे सहित कसडोल क्षेत्र के राजस्व निरीक्षकों ने बताया कि दुर्ग जिले के धमधा में पदस्थ राजस्व निरीक्षक कुंदन शर्मा पर एसडीएम राजस्व एसपी वैद्य द्वारा आबादी पट्टा वितरण के संबंध में गलत तरीके तथा षड्यंत्रपूर्वक गलत जांच प्रतिवेदन देकर एफआइआर करा दिया गया था जिसके कारण श्री शर्मा को जेल जाना पड़ गया था जबकि कलेक्टर द्वारा इस संबंध में जांच कराने पर श्री शर्मा निर्दोष पाया गया। राजस्व निरीक्षकों ने बताया कि इसी कारण एसडीएम एसपी वैद्य के विरुद्घ एफआइआर व निलंबन की कार्रवाई की एक सूत्री मांग को लेकर 28 मई से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठे हैं तथा मुख्य मंत्री से मिलकर ज्ञापन सौंपा जा चुका है जिस पर मुख्यमंत्री द्वारा कार्रवाई का आश्वासन भी दिया गया है लेकिन राजस्व निरीक्षक गण आश्वासन से संतुष्ट नहीं बल्कि तत्काल कार्रवाई के बाद हड़ताल वापस लेने की बात कह रहे हैं। हड़ताल में रामजी ध्रुव, अजय पांडेय, चित्रसेन निराला, देवेंद्र साहू, राजेश चंदेल, विनय कोसले, कुमार गौरव अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में राजस्व निरीक्षकगण उपस्थित हो रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network