घोटिया (पलारी (नईदुनिया न्यूज)। जिला सहकारी बैंक वटगन शाखा में हुए गबन की जांच की रिपोर्ट सामने आ गई है। नईदुनिया ने सबसे तेज अपने 19 अगस्त के अंक में इस पर खबर प्रमुखता से छापी थी जिसका असर देखने को मिला। इसमें लेखापाल सूरज साहू के 3.40 करोड़ का गबन करना पाया गया है।

वहीं जांच में बलौदाबाजार शाखा के प्रबंधक लाखेश्वर साहू द्वारा भी करीब 6 लाख 51 हजार का गबन करना पाया गया है। उन्हें भी निलंबित कर दिया गया है। सूरज साहू को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। भ्रष्ट कर्मचारियों के मिली भगत के चलते यह मामला दबते जा रहा था लेकिन नईदुनिया द्वारा उचित समय में खबर प्रकाशित करने से जांच समितियों को मामले की गंभीरता समझ आई। अब जल्द ही इन भ्रष्ट कर्मचारियों पर एफआई आर होने वाली है।

बलौदाबाजार शाखा में भी गबन का कनेक्शन

जांच कमेंटी से प्राप्त जानकारी के आधार पर वटगन से राशि हेरफेर कर बलौदाबाजार के खाताओं में डालकर निकालकर गबन किया गया है। जिसमें बलौदाबाजार के शाखा प्रबंधक लाखेश्वर साहू का संलिप्तता भी जांच में आई है जिसमें 6 लाख 51 हजार 911 रुपए का गबन किया गया है। साथ ही वटगन के पहले सूरज साहू बलौदाबाजार में पदस्थ था वहां भी वह हेरफेर किया है।

शाखा प्रबंधक रहते हुए सूरज ने किया था हेराफेरी

जिला सहकारी केंधीय बैंक वटगन शाखा में सूरज साहू बतौर शाखा प्रबंधक रहते हुए यह कारनामा किया है। वह विभिन्न समितियों के खातों के पैसों का हेरफेर कर करोड़ों का गबन किया है। यह कारनामा पिछले चार साल से चल रहा था। लेकिन मामला अब खुला है।

शाखा प्रबंधक प्रहलाद पटेल ने उच्च अधिकारियों को किया सूचित

शाखा प्रबंधक प्रहलाद पटेल वटगन में पदस्थ होने के बाद लेखापाल की भ्रष्ट होने की पहचान कर उधा अधिकारियों को सूचित किया। शाखा प्रबंधक प्रहलाद पटेल का कहना है कि किसानों एवं समस्त ग्राहकों को बैंक की सही सुविधाएं प्राप्त कराना उनका कार्य है। जिसको लेकर वे आगे बढ़ रहे हैं।

एक के साथ अनेक कर्मचारी भी फंसने के कगार पर

सूरज साहू ने अपने पद का फायदा उठाकर अन्य कर्मचारियों के खातों में राशि डालकर उपभोग किया है। जिससे साथ में काम करने वाले कार्यरत कर्मचारी भी चेपट में आ गए। एक के साथ अनेक कर्मचारियों ने पैसे देखकर अपने आप को भ्रष्ट होने से रोक नहीं पाये। अभी भी अन्य बैंक कर्मचारियों के अंदर से चिंता खत्म नहीं हुआ और कहीं फंस न जाने खतरा मंडरा रहा है जिसके चलते भय में है।

स्थानांतरण नहीं होने का लाखेश्वर साहू ने उठाया लाभ

वहीं बलौदाबाजार के शाखा प्रबंधक लाखेश्वर साहू एक बैंक का कर्मचारी जरूर था मगर एक ही स्थान में पिछले 15 वर्षों से जमें रहने का फायदा उठाते हुए लखेश्वर साहू ने यह गबन किया है। अपनी मनमानी और भ्रष्ट काम आखिर पकड़ में आ गया।

अन्य बैंक कर्मचारियों का भी तबादला आवश्यक

इनके अलावा भी कई कर्मचारी ऐसे हैं जो लंबे समय से एक ही जगह में पदस्थ हैं। जिनका तबादला करना आवश्यक है। एक ही जगह लंबे समय से पदस्थ रहकर कर्मचारियों में भ्रष्टाचार बढ़ते जा रहा है। सुपरवाइजर, लेखापाल, शाखा प्रबंधक पद पर क्षेत्र में बहुत से कर्मचारी लंबे समय से जुटे हुए हैं जो मिलीभगत रूप में कार्य कर रहे हैं। किसानों और अन्य खाताधारकों के अनपढ़ और सीधा होने का इन लोगों द्वारा गलत फायदा उठाया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close