सिमगा। छत्तीसगढ़ ग्राम रोजगार सहायक संघ के प्रांतीय आह्वान पर सिमगा ब्लाक के ग्राम रोजगार सहायकों ने ब्लाक मुख्यालय में जनपद कार्यालय के सामने मंगलवार को एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन करते हुए वेतनमान व नियमितीकरण की मांग की। रोजगार सहायक संघ सिमगा के मीडिया प्रभारी उमेश गोस्वामी ने बताया कि छग में जब से मनरेगा अधिनियम लागू किया गया है तब से मनरेगा कर्मचारी ग्राम रोगार सहायक के पद पर प्रत्येक ग्राम पंचायत में मानदेय पर नियुक्त किये गए हैं, जो विगत 14 -15 वर्षों से ग्राम रोजगार सहायक मनरेगा सहित शासन के विभिन्ना योजनाओं में अपनी सेवा निष्ठापूर्वक कर रहे हैं। शासन की कोई भी महत्वपूर्ण योजना हो उसमे रोजगार सहायकों को जिम्मेदारी अवश्य मिलती है। राशन कार्ड , स्मार्ट कार्ड, मतदाता सूची निर्वाचन, गोधन न्याय, गोठान जो भी जिम्मेदारी दी गई उसका निर्वहन रोजगार सहायकों द्वारा किया जाता है। लेकिन आज तक ग्राम रोजगार सहायकों का वेतनमान निर्धारण नहीं होना समझ से परे है। वहीं मनरेगा अधिनियम में सभी अधिकारी कर्मचारियों को वेतनमान दिया जाता है जबकि समस्त अधिकारी-कर्मचारियों का वेतन रोजगार सहायकों द्वारा कराए गए कायोर् से सृजित मानव दिवस से किये गए खर्च से ही किया जाता है। या ये कहें कि विडंबना है समस्त अधिकारी कर्मचारियो के वेतन के लिए निधि संयोजित करने वाले ग्राम रोगार सहायकों को ही वेतनमान नहीं दिया जा रहा है, जो सरासर अन्याय है।

गोस्वामी ने कहा कि छग के समस्त ब्लाक मुख्यालयों में धरना देकर ग्राम रोजगार सहायक अपनी मांग से संबंधित ज्ञापन मुख्यमंत्री भुपेश बघेल, टी एस सिंहदेव पंचायत मंत्री , डॉ चरणदास महंत विधानसभा अध्यक्ष के नाम देकर पुनः आवाज बुलंद कर रहे हैं। धरना स्थल पर रोजगार सहायकों ने कहा कि आगामी सात दिसंबर को छग के समस्त जिला मुख्यालयों व 15 दिसंबर को राजधानी रायपुर में धरना प्रदर्शन कर मांग पूरी करने के लिए ज्ञापन सौंपा जाएगा। आज के धरना प्रदर्शन व ध्यानाकर्षण रैली में सिमगा ब्लाक के के समस्त पंचायतों के रोजगार सहायक शामिल हुए।

बाक्स

सरकार ने नहीं की कोई पहल

गोस्वामी ने बताया कि रोजगार सहायक विगत कई वर्षों से वेतनमान निर्धारण, नियमितीकरण, ग्राम पंचायत सचिव पद पर सीधी भर्ती, सहायक सचिव घोषित करने एवं नगरीय निकाय में सम्मिलित होने वाले ग्राम पंचायतों के रोजगार सहायकों को उसी निकाय में समायोजित करने की मांग को लेकर संघर्षरत है। जिसका समर्थन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं वर्तमान सरकार ने विपक्ष में रहते हुए तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष व वर्तमान पंचायत मंत्री टीएस सिंह देव ने स्वयं हड़ताली मंच पर किया था। साथ ही घोषणा पत्र में भी शामिल किए हैं, जिससे रोजगार सहायकों की उम्मीद नई सरकार बनते ही बढ़ गई, लेकिन दो वर्ष हो चुके नई सरकार को गठन हुए, रोजगार सहायकों की मांग व समस्या पर किसी प्रकार का पहल नहीं हो पाया है। जबकि ग्राम रोजगार सहायक संघ द्वारा एक पखवाड़े पहले ही संवाद पत्राचार कार्यक्रम चलाकर छग के समस्त विधायकों, मंत्रीगणों, सांसद सदस्यों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भी ज्ञापन देकर समर्थन की अपील की गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस