भाटापारा (नईदुनिया न्यूज)। ब्लॉक के 205 पंचायत शिक्षक गांव के हर घर का सर्वे करेंगे। पता लगाएंगे कि संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्ति हैं या नहीं? इस काम के लिए गठित टीम को एक्टिव सर्विलेंस टीम के नाम से जाना जाएगा। टीम में पंचायत टीचरों के अलावा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, मितानिन और संबंधित नर्स के अलावा ग्राम कोटवार सदस्य के रूप में काम करेंगे। कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मरीजों से चिंतित राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शहर के बाद अब गांवों में जांच करने का फैसला लिया है। इसमें एक बार फिर से टीचरों की मदद ली जाएगी। यह काम न केवल उसी दिन पूरा करना होगा बल्कि रोजाना की रिपोर्ट विकासखंड टीम को देनी होगी। इनसे होती हुई यह जानकारी जिला नोडल ऑफिसर तक पहुंचाई जाएगी।

205 पंचायत टीचरों की तैनाती

भाटापारा ब्लॉक के गांव की जांच के लिए बनी एक्टिव सर्विलेंस टीम में हमेशा की तरह एक बार फिर से सरकार ने टीचरों पर भरोसा जताया है। हर काम को मुस्तैदी के साथ पूरा करने के लिए पहचाना जाने वाला यह वर्ग एक बार फिर से आपदा की इस घड़ी में सरकार का साथ देने जा रहा है। गांव में सर्वेक्षण के लिए तैनात 205 पंचायत टीचर बहुत जल्द ट्रेनिंग के बाद रवानगी की तैयारी में लग चुके हैं।

यह काम करेगी सर्विलेंस टीम

एक्टिव सर्विलेंस टीम अधिक जनसंख्या वाले क्षेत्र बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, घनी बस्ती, मलिन बस्ती, धार्मिक स्थल व अन्य राज्यों से आने वाले ट्रकों के ठहरने की जगह और श्रमिक शिविरों में बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ के लक्षण वाले व्यक्तियों का पता लगाएगी और उस क्षेत्र को चिन्हांकित करेगी। इसके अलावा संवेदनशील इलाकों का भी पहचान यह टीम करेगी। इस काम में ग्राम पंचायत और कोटवार को अनिवार्य रूप से टीम को मदद करना होगा तथा आवश्यक सहायता देनी होगी।

यह होंगे सर्विलेंस टीम में

संक्रमित मरीज की खोज के लिए बनाई गई एक्टिव सर्विलेंस टीम में पंचायत टीचरों के साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, संबंधित नर्स, मितानिन, प्रशिक्षक व मितानिन के साथ ग्राम कोटवार इस टीम के सदस्य होंगे। यह टीम प्रत्येक दिन हर घर का सर्वेक्षण करेगी। हर सदस्य के स्वास्थ्य की जांच करेगी। इस काम में ग्राम पंचायत से मांगे जाने पर आवश्यक संसाधन टीम को उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी होगी।

रोज जांच-रोज रिपोर्ट

एक्टिव सर्विलेंस टीम हर दिन की जाने वाली सर्वेक्षण की पूरी जानकारी निर्धारित प्रपत्र में संकलित करके संख्यात्मक विवरण सहित समीक्षात्मक रिपोर्ट खंड स्तर के टीम को देगी। संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्ति की पूरी पहचान, पता समेत तत्काल देना होगा। खंड स्तर पर पहुंचने वाली यह रिपोर्ट जिला नोडल ऑफिसर को उसी दिन भेज दी जाएगी। कंटेटमेंट जोन की पहचान होने पर इसकी जानकारी निर्धारित प्रपत्र में खंड चिकित्सा अधिकारी और शहरी स्वास्थ्य प्रबंधक को देना होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना