तिल्दा नेवरा। स्थानीय सकल दिगंबर जैन समाज मंदिर में जैन मुनि महाराज का आगमन हुआ। समाज के लोगों ने दो किलोमीटर दूर से गाजे-बाजे के साथ स्वागत करते हुए मुनियों को मंदिर तक लाए। दुर्ग छत्तीसगढ़ में जन्म लेकर आचार्य विशुद्घ सागर वर्ष 2009 अशोकनगर मध्यप्रदेश में दिगंबर दीक्षा लेकर धर्म प्रवचन कर रहे हैं। 12 वर्ष के दीक्षा काल में साधना, ज्ञान अभ्यास के बल पर प्रभावीप्रवचन देकर लोगों को अहिंसा व मैत्री का संदेश दे रहे हैं।

जैन तीर्थ नेवरा तिल्दा में मुनि संघ का प्रवास हुआ है। अध्यात्म योगी आचार्य विशुद्घ सागर के शिष्य मुनि सुयश सागर, मुनि सद्भभाव सागर और श्रुलक श्रुत सागर मुनिराज के आगमन से श्रोताओं में उत्साह बना हुआ है। मुनि सुयश सागर ने अपने प्रवचन में कहा कि श्रद्धा ही आनंद का मूल स्रोत है। दान और पूजन श्रावकों का मुख्य धर्म है। दान देने से भोग भूमि का बंध होता है। जितना विश्वास रोटी पर है कि इसके खाने से पेट भरेगा, इतना विश्वास भी संसारी प्राणी करले कि परमात्मा की पूजा अर्चना से संसार कटेगा तो भगवान बनने में देर नहीं। महामंत्र की महिमा अचिंत्य है। मंत्र, जाप, मन शुद्घि का महान स्त्रोत है। अस्ति और नस्ती वस्तु का धर्म है। उन्होंने कहा कि जब वस्तु स्वतंत्रता का ज्ञान प्राणी प्राप्त करता है तो यह सर्व भायो से मुक्त हो जाता है। प्रवचन के बाद मंदिर में शांति विधान पाठ का आयोजन किया गया जिसमें पुष्पा जैन, किरण नायक, कस्तूरी जैन, कुसुम जैन, मीना जैन, सरोज जैन, प्रथा जैन, मोनिका, ऋतु जैन, राखी जैन, अनीता जैन, आशा जैन आदि शामिल हुए।

जैन संतों का महामिलन सात को शिवमंदिर में

सिमगा नगर के श्री सिद्घेश्वर शिव मंदिर के प्रागंण में जैन संत चर्या शिरोमणि आचार्य श्री 108 विशुद्घ सागर महाराज एवं उनके शिष्य सुयश सागर का महामिलन कार्यक्रम होगा। सिमगा नगर के सिद्घेश्वर शिव मंदिर के प्रागंण में 7 जुलाई को जैन संत चर्या शिरोमणि आचार्य श्री 108 विशुद्घ सागर महाराज अपने संघ के मुनिराजों के साथ जबलपुर से पदयात्रा करते हुये पहुंचेंगे। उनके शिष्य मुनि श्री सुयश सागर, मुनि श्री सद् भाव सागर एवं छुल्लक श्री श्रुत सागर महराज का महामिलन का कार्यक्रम आयोजित किया गया है । इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सिमगा जैन समाज बड़ी जोर शोर से तैयारी कर रहा है । गुरु शिष्य के महामिलन कार्यक्रम में तिल्दा, भाटापारा, राजिम, कवर्धा, रायपुर, दुर्ग, भिलाई, बिलासपुर, राजनांदगांव सहित अनेकों क्षेत्रों से भक्तगण शामिल होंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close