बलौदाबाजार। स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुविधाओं का विस्तार करते हुए जिला अस्पताल बलौदाबाजार में कुपोषित बधाों के लिए पोषण पुनर्वास केंद्र बनाने के कार्य को स्वीकृति प्रदान की गई है। जिससे कुपोषित बधाों एवं महिलाओं को कुपोषण से बचाने में काफी मदद मिलेंगी। साथ ही विकासखंड मुख्यालयों में स्थित आदिवासी छात्रावासों में एक एक गोबर गैस प्लांट लगाने के निर्देश क्रेडा एवं सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को दिए गए है।

उक्त गोबर गैस का उपयोग छात्रावासों में खाने बनाने में वैकल्पिक ईंधन के रूप में किया जाएगा। साथ ही समय सीमा की बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यो की विस्तृत समीक्षा की गई है। कलेक्टर ने सभी जिला अधिकारियों को समय सीमा के भीतर कार्यं करने के निर्देश दिए है। राजस्व एवं पंचायत विभाग के कार्य अधिक लंबित रहतें है। संबंधित अधिकारी कर्मचारी ऐसे कार्यो को सर्वोधा प्राथमिकता में लेते हुए समय सीमा के भीतर आवेदनों को निराकारण करनें के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिए है। इस कार्य में किसी भी प्रकार लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री का जिले में भ्रमण तय है। इस दृष्टि से शासन की सर्वोधा प्राथमिकता वाले योजनाओं का क्रियान्वयन शत प्रतिशत हो उसकी जिम्मेदारी सम्बंधित जिला अधिकारियों की होती है। इस कार्य मे जरा भी लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी। साथ ही उन्होंने राज्य शासन की फ्लैगशिप योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पंहुचाने के निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना एवं फसल परिवर्तन में तेजी एवं गौठानो को अधिक सशक्त करनें के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री शहरी स्वास्थ्य स्लम योजना,पौनी पसारी, श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर, सुराजी गांव योजना, गौधन न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना एवं उनका विस्तार, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान,महतारी दुलार योजना,वन अधिकार पत्र वितरण जैसे अन्य योजनाओं का विस्तृत समीक्षा किए। गौठानो को ग्रामीण आजीविका का सबसे महत्वपूर्ण केंद्र के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए है। हमें इस हिसाब से भविष्य की योजना बनाकर समय सीमा के भीतर क्रियान्वयन करना होगा। मुख्यमंत्री आगमन की दृष्टि से जिला अधिकारियों के बीच कार्य का विभाजन कर जिम्मेदारी दी गयी है। उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा लगातार क्षेत्र का निरीक्षण किया जा रहा है। जहां पर आवश्यक सुधार हेतु निर्देश दिए जा रहे है ऐसे निर्देशो का पालन सम्बंधित विभाग के अधिकारी सुनिश्चित करैंगे। इस दौरान सीमार्ट में विक्रय बढ़ाने सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा किए है। साथ ही सभी जिला अधिकारियों को अपने अपने स्तर में जनचौपाल लगाकर आवेदनों को निराकरण करने के निर्देश दिए गए है। उक्त बैठक में सभी जनपदों से आनलाइन माध्यम से सभी एसडीएम, सीईओ एवं अन्य विभागों के अधिकारी गण जुड़े हुए थे। बैठक में अपर कलेक्टर राजेंद्र गुप्ता, जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की,डीएफओ के.आर.बढ़ई एसडीएम प्रतिष्ठा ममगाईं सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close