सुहेला। समीपस्थ ग्राम बिटकुली के गोठान में इंद्रा स्व सहायता समूह द्वारा कंपोस्ट खाद बनाया जा रहा है। परंतु कंपोस्ट खाद को सही माप तौल के हिसाब से तैयार नहीं कर रहे हैं। क्योंकि कंप्यूटर का तैयार कर बोरी में जो पैकेट बना रहे है वह अभी भी गिला है और सही तरीके से कंपोस्ट खाद को सुखाया नहीं गया है। ग्राम बिटकुली बरडीह ग्रामीणों ने मंगलवार को गांव की खाद गोदाम खाद लेने पहुंचा तब पता चला की कंपोस्ट खाद अभी भी गिला है साथ ही बोरी में भरे गए कंपोस्ट खाद वजन में भी प्रति बोरी आठ से नौ किलो कम है, जबकि प्रत्येक बोरी में 30 किलो कंपोस्ट खाद होना चाहिए।

समूह को गोठान से हटाया जाएं : इसकी शिकायत ग्रामीणों ने समिति प्रबंधक से किया और कहा कि समूह के द्वारा तैयार किए जा रहे खाद का वजन सही नहीं है और नही सही तरीका से सुखा है। वही ग्रामीणों ने इंद्रा स्वा सहायता समूह को गोठान से हटाने का भी मांग पंचायत प्रतिनिधियों

से करने की बात कही है। वही ग्रामीणों ने गोठान में भी पहुंचकर कंपोस्ट खाद तैयार करने वाले जगह का भी निरीक्षण किया और समूह वालों को मनमाने तरीके से खाद तैयार कर कम वजन में किसानों को खाद उपलब्ध कराने का आरोप लगाया। और कहा कि पैकिंग वाले बोरी में किसी प्रकार का कोई अपनी समूह का कोई होल मार्क रखा है।

समूह के सदस्यों को सूचना दी गई

: उक्त संबंध में समिति प्रबंधक रोहित साहू ने कहा कि हमें समूह के द्वारा खाद बोरी में पैक कर पहुंचाया जाता है जिसे हम किसानों को वितरण करते हैं। शासन के निर्देशानुसार कंपोस्ट खाद का पैकिंग प्रति बोरी 30 किलो का होना चाहिए परंतु किसानों की शिकायत होने पर हमने समूह के सदस्यों को सूचना दे दी है। शिकायत करने वाले ग्राम बिटकुली की किसान कन्हैया वर्मा, विशेश्वर साहू, मनोज वर्मा, मेघनाथ वर्मा, मन्नु वर्मा, मंतराम साहू, चितेश साहू, दिनेश वर्मा, वीरेंद्र साहू, थानु राम साहू, हेमू वर्मा सहित आदि लोगों ने गोबर खाद तैयार कर रहे समूह को हटाकर दूसरा समूह को रखने की बात कही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close