सुहेला। सिमगा विकासखंड के ग्राम पंचायत खपराडीह में उपसरपंच एवं उनके समर्थक पंचों द्वारा सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने पर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

ज्ञात हो कि इस गांव में आरक्षण के चलते अनुसूचित जनजाति से पहली बार महिला सरपंच उर्मिला ध्रुव को सरपंच बनाया गया है। इस ग्राम पंचायत में 11 वार्ड हैं, जिसमें 6 महिला और पांच पुरुष पंच चुनकर आए हैं। इसमें से सरपंच उर्मिला ध्रुव सहित 5 पंच हेमन्त बघमार,ललीता बघमार,पुष्पा बंजारे, पलक वर्मा, रामकिशुन यदु ने शपथ ग्रहण किए हैं, और 6 पंचों ने शपथ ग्रहण नहीं किए हैं। बावजूद बिना शपथ ग्रहण किए उपसरपंच का भी चयन पंचों ने कर लिया और नेमसिंह बघमार को उपसरपंच बना दिया, जबकि उपसरपंच नेम सिंह बाघमार सहित 5 पंचों ने शपथ ग्रहण नहीं किया है।

इधर ग्राम सभा की बैठक सोमवार को ग्राम पंचायत सरपंच उर्मिला ध्रुव और सचिव के द्वारा रखा गया, जिसकी जानकारी महिला सरपंच ने स्वयं रविवार को घर-घर जाकर दी। ग्राम सभा की बैठक में सरपंच व सचिव ने अपनी पंचायत के आय-व्यय की जानकारी ग्राम सभा में उपस्थित लोगों को दी तथा उपसरपंच के द्वारा लगाए गए अविश्वास प्रस्ताव के संबंध में बताया। सरपंच ने कहा कि अगर उपसरपंच को मुझे सरपंच पद पर नहीं रखना है तो वह ग्रामवासियों के सामने मुझसे इस्तीफा मांग ले, मैं हंसी खुशी के साथ इस्तीफा दे दूंगी। साथ ही एक साल के कार्यकाल में जब भी पंचायत की बैठक हुई है और कोई भी प्रस्ताव रखा गया है तो उपसरपंच ने कोई भी प्रस्ताव पास नहीं होने दिया और बाद में प्रस्ताव करेंगे कहकर आज तक पंचायत प्रतिनिधियों सहित ग्रामवासियों को गुमराह कर रखा है। इससे गांव का विकास कार्य रुक गया है।

शपथ नहीं लेने वाले उपसरपंच व पंचों को बर्खास्त करने की मांग

वहीं ग्राम सभा में उपस्थित ग्रामीणों ने कहा कि वे सरपंच उर्मिला ध्रुव के कार्यकाल से संतुष्ट हैं। ग्रामीणों ने उप सरपंच के द्वारा लगाए गए अविश्वास प्रस्ताव को गलत बताते हुए कहा कि अगर उपसरपंच व पंचों के द्वारा सरपंच ध्रुव पर अविश्वास प्रस्ताव लाया जाता है तो हम सब ग्रामवासी एक होकर सरपंच के साथ रहेंगे और जहां भी जाना होगा हम जाएंगे। हम सब ग्रामवासी जिला कार्यालय, तहसील कार्यालय, एसडीएम कार्यालय का घेराव करने के लिए भी तैयार हैं। साथ ही ग्रामीणों ने यह भी कहा कि जो पंच व उपसरपंच शपथ ग्रहण नहीं किए हैं उन सबको पंचायत के किसी भी कार्य में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। उन्हें बर्खास्त किया जाए। शपथ ग्रहण नहीं करने वाले उपसरपंच नेमसिंह बघमार, पंच रविन्द्र वर्मा, हरिराम बंजारे, गैंदीबाई वर्मा, बिमला बाई वर्मा, टीकेश्वर साहू को बर्खास्त करने की मांग करने वालों में पंच हेमंत बघमार, ललिता बघमार, पुष्पा बंजारे, पलक बाई वर्मा, पूर्व सरपंच विनोद वर्मा, रमेश वर्मा, गजेंद्र वर्मा, भोजराम वर्मा, कलीराम ध्रुव, रामकुमार वर्मा, कमल नारायण बघमार, जनक बंजारे मनोज सेन, ललित ध्रुव, मेहतर लाल वर्मा, रामकुमार वर्मा, डागेश्वर यदु, प्रदीप निर्मलकर बलराम वर्मा शामिल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags