बालोद/ मालीघोरी (नईदुनिया न्यूज)। शासकीय हाई स्कूल भरदा (लो) के छात्र-छात्राएं जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर हैं। मरम्मत नहीं होने से छत से प्लास्टर गिर रहा है। गुरुवार को स्कूल में दोपहर को विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे थे, तभी अचानक से छत से प्लास्टर छात्र के बगल में ही गिरा। गनीमत रही कि प्लास्टर छात्र के ऊपर नहीं गिरा। इसलिए बड़ी घटना नहीं हुई। इसके बाद तुरंत पढ़ाई कर रहे छात्रों को दूसरे कमरे में बिठाया गया। वहीं जर्जर स्कूल की छत गिरने की जानकारी के बाद मलबा को हटवाया गया।

छात्रों ने बताया कि यह घटना पहली नहीं हैं, पहले भी स्कूल की छत से प्लास्टर गिर चुका हैं, बावजूद इसके कोई ठोस पहल नहीं किया जा रहा है। संस्था के प्राचार्य ने बताया कि स्कूल प्रबंधन द्वारा जर्जर भवन के विषय में पत्र व्यवहार कर उच्चाधिकारियों को अवगत भी कराया जा चुका हैं। अब जबकि समस्या गंंभीर है, जिला प्रशासन के अधिकारियों को चाहिए कि जल्द से जल्द इस जर्जर स्कूल भवन की मरम्मत और निर्माण पर ध्यान दें। नहीं तो कभी भी एक बड़ी घटना हो सकती है। इस घटना लेकर अभिभावकों ने चिंता व्यक्त करते हुए मरम्मत की मांग की है।

डौंडीलोहारा विकास खंड शिक्षा अधिकारी एलके ठाकुर का इस मामले में कहना है कि प्लास्टर गिरने की जानकारी मिलने के बाद हाई स्कूल में निरीक्षण के लिए पहुंचकर प्लास्टर गिरने की जानकारी ली जिसके पश्चात छात्र छात्राओं को अन्य कमरा में बैठाने के लिए प्राचार्य को निर्देशित किया। वहीं शासकीय हाई स्कूल भरदा की प्राचार्य यूसी अग्रवाल ने बताया कि बच्चें क्लास में पढ़ाई कर रहे थे अचानक छत की प्लास्टर छात्रों के बगल में गिरी जिससे छात्र को किसी प्रकार की चोट नहीं आई। घटना के बाद हमने छात्रों को दूसरे रुम में शिफ्ट किए और हमारे द्वारा पहले से ही स्कूल भवन जर्जर होने के बारे में उच्च कार्यालय को जानकारी दी है।

Posted By: Abhishek Rai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close