दल्लीराजहरा। एक ओर कोरोना वायरस कोविड 19 की तीसरी लहर संक्रमण का खौफ को लेकर प्रशासनिक अमला पूरी तरह सक्रिय है, ऐसी विषम स्थिति में कोरोना वायरस संक्रमण के योद्घा स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस विभाग, स्वच्छता विभाग मुस्तैदी के साथ अपने कार्य पर डटे हुए हैं। वहीं शिक्षा विभाग भी पीछे नहीं है।

शिक्षा विभाग ने भी प्राथमिक, माध्यमिक शालाओं के बच्चों को राशन दिए जाने को लेकर रणनीति तैयार कर सूखा भोजन देने का निर्णय लेकर घर-घर सूखा राशन वितरण किए जाने का सिलसिला डौंडी ब्लाक क्षेत्र में जारी हो गया है। सूखा राशन सामग्री वितरण के लिए संचालक, लोक शिक्षण संचालनालय, इंद्रावती भवन, अटल नगर, नवा रायपुर द्वारा निर्देश दिया गया है, जिसके अनुसार मध्यान्ह भोजन योजना के गाइड लाइन के अनुसार कक्षा पहली से आठवीं तक के उन बच्चों को जिनका नाम शासकीय शाला, अनुदान प्राप्त अशासकीय शाला अथवा मदरसा-मकतबा में दर्ज है, मध्यान्ह भोजन दिया जाना है। शालेय दिवस के लिए सूखा राशन सामग्री का वितरण सुविधानुसार शाला में अथवा घर-घर पहुंचाकर किया जाना है।

वितरण के दौरान बच्चों व पालकों के मध्य शारीरिक दूरी बनाए रखना है। सूखा राशन वितरण में बच्चों को चावल, दाल एवं तेल की मात्रा भारत सरकार द्वारा निर्धारित मात्रा से कम नहीं होनी चाहिए। बच्चों को प्रदाय किये जाने वाले सामग्रियों को पृथक-पृथक सील बंद पैकेट बनाते हुए प्रति छात्र सभी सामग्रियों का एक बड़ा पैकेट बनाया जाना है। वितरित की जाने वाली खाद्य सामग्रियां उच्च गुणवत्ता की होनी चाहिए।

विकास खंड शिक्षा अधिकारी कमलकांत मेश्राम ने बताया कि राज्य शासन के निर्देशानुसार भोजन की व्यवस्था की जा रही है, और आनलाइन शिक्षा के तहत प्रकाश फैलाया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local