डौंडीलोहारा (नईदुनिया न्यूज)। शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में पूरे देश में 31 मई को गृहे-गृहे गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया गया।डौंडी लोहारा ब्लॉक में 250 घरों में गायत्री महायज्ञ का आयोजन हुआ। गायत्री और यज्ञ हमारी संस्कृति के माता-पिता हैं। गायत्री हमें जीवन जीने का दर्शन दिखाती है और भगवान यज्ञ हमें जीवन जीने की कला सिखाते हैं। यही ज्ञान और कर्म रूपी जीवन रथ के 2 चक्के हैं। इन दिनों मानव जाति अनास्था के दौर से गुजर रही है। साधन भरे पड़े हैं पर साधना का अभाव है। इसी कारण ज्ञान धन और शक्ति मिल कर भी सुख शांति और संतुष्टि प्रदान नहीं कर पा रहे। अतः स्थाई सुख शांति और संतुष्टि के लिए गायत्री और यज्ञ में जीवन की आवश्यकता आन पड़ी है। वेदमाता देव माता और विश्वमाता गायत्री की उपासना और त्याग परोपकार संगठन और जीवन की प्रेरणा देने वाले यज्ञ का आयोजन विश्व की सुख शांति के आवश्यक हो गया है। 31 मई को पूरे विश्व में करोड़ों लोग मिलकर घर घर में गायत्री महायज्ञ का आयोजन किए। जिसके तहत डौण्डी लोहारा ब्लॉक के डौण्डी लोहारा में रामनगर, संजय नगर, टिकरा पारा, राजा पारा में गायत्री साधक अपने घरों में यज्ञ सम्पन्ना किए। ब्लॉक के मड़ियाकट्टा, मुंडा टोला, भवरमरा, तुमडीकसा, कमकापर, मंगचुवा, कुदरीदल्ली, रेगाडबरी, पुनारकसा, खैरकट्टा, सिरपुर, जोगीभाट , रेघाई, बनगाँव, कोरगुड़ा, खरथुली, डारा गांव, नारंगी, संबलपुर, कोटेरा , राना खुज्जाी, कुआ गांव, टटेगा, हल्दी, देवरी, पसोद, परसूली, झिटिया, सुरे गांव, हड़गहन, सिकरिटोला, आदि गांव में 250 घरो में गायत्री महायज्ञ संपन्ना हुआ. जिसमें साधक करोना महामारी के नियंत्रण के लिए महामृत्युंजय मंत्र से आहुति दिये और सभी के उत्तम स्वास्थय की कामना की। गोवर्धन उर्वशा, के आर कुलदीप, लूणकरण ठाकुर , पीलू राम साहू, सेवा राम मंडावी, गिरवरसिंह कोलियारे, प्रेमसिंह कोलियारे, मिलन सिन्हा, भोला राम साहू, प्रज्ञानंद बघमरिया, बिशम्भर बघमरिया, पुराणिक सोरी,वीरेंद्र साहू,ओमप्रकाश केसरा, गजाधर चक्रधरी, ढाल सिंह साहू,रंजन पटेल, उर्मिला सिन्हा, लता साहू, वारूणी दिल्लीवार, पदमनी सोरी, रोहिणी कारते, जागेश्वर कारते आदि साधकों ने अपने घरों में गायत्री महायज्ञ किए।

शिरपुर बगईकोन्हा में भी हुआ आयोजन

अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के सफल मार्गदर्शन में गृहे-गृहे गायत्री महायज्ञ संपन्ना हुआ। इसी कड़ी में ग्राम सिरपुर बगईकोन्हा में भी शिक्षक पीलू राम साहू के निवास में 1 कुंडीय गायत्री महायज्ञ किया गया। वर्तमान में समूचा विश्व कोरोना वायरस रूपी महामारी संकट से जूझ रहा है जिसके निवारण व लोक कल्याण मंगलमय जीवन के लिए 24 बार गायत्री महामंत्र व 5 बार महामृत्युंजय मंत्र से आहुति प्रदान किया गया। इसमें खुशी कान्हा, रैमून साहू शामिल हुए। मंदिरों व घरों में भी यज्ञ संपन्ना किया गया।

---

गुण्ड्राटोला में किया गायत्री मंत्र का उच्चारण

दल्लीराजहरा (नईदुनिया न्यूज)। वर्तमान एवं भावी संकटों का निवारण, वातावरण एवं पर्यावरण का परिशोधन, देश की सीमाओं और स्वास्थ्य सेवा के सेनानियों की रक्षा, भारतीय संस्कृति व संस्कारों की स्थापना, विश्वकल्याण के लिए अखिल विश्व गायत्री परिवार के द्वारा समूचे विश्वभर में 31 मई को भव्य गायत्री यज्ञ एवं उपासना का आयोजन किया गया। इसका आयोजन ग्राम गुण्ड्राटोला (कुसुमकसा) में भी हुआ। इस महायज्ञ में सभी सहपरिवार अपने घर-घर में यज्ञकुंड निर्मित कर आहुति देकर विश्व कल्याण एवं समर्थ व शक्तिशाली, राष्ट निर्माण के उद्देश्यों को साकार किए। जानकारी के मुताबिक पुरी दुनिया के अनेक देश के लगभग 10 लाख घरों में इस यज्ञ उपासना आयोजित किया गया। इस दिव्य महायज्ञ में अलग-अलग स्थानों में तेजराम शिवना द्वारा संपन्ना कराया गया। इस अवसर पर अवधसिंह, सुमित्रा बाई, योगिता, धनवन्तरी, माधवी, लोकेश्वरी, यमलेश, यश्वनी, टोकेन्द्र शिवना, जगन्नााथ एवं समस्त शिवना परिवार व ताम्रध्वज नायक, चंद्रिका बाई, पंकज कुमार, कु कामिनी शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना