बालोद। कलेक्टर जनमेजय महोबे ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए तैयार किए गए कोविड केयर सेंटरों में सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को निरीक्षण कर जायजा लें। कोविड केयर सेंटरों में सभी व्यवस्था सुनिश्चित होनी चाहिए।

महोबे शुक्रवार को संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित स्वास्थ्य विभाग की बैठक में निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए जिले में प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल, महाविद्यालय बंद रहेंगे।

उन्होंने बैठक में उपस्थित शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्कूलों व महाविद्यालयों में आनलाइन कक्षाओं के संचालन के लिए सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने जिले में कोविड-19 के धनात्मक प्रकरण तथा लक्ष्य अनुरूप कोरोना जांच की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोरोना से अलर्ट रहने की जरूरत है। उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए संक्रमित व्यक्तियों के प्राथमिक संपर्क में आने वालों का अनिवार्य रूप से कांटेक्ट टेस्टिंग करने व कोरोना जांच के निर्देश दिए। उन्होंने होम आइसोलेशन में रहकर उपचार करा रहे मरीजों का नियमित मानिटरिंग के निर्देश दिए।

41 हजार से अधिक बच्चों को लगा टीका

कलेक्टर ने जिले में कोविड-19 टीकाकरण की प्रगति की जानकारी ली। जिला टीकाकरण अधिकारी ने बताया कि जिले में 15 वर्ष से 18 वर्ष आयु वर्ग के 41 हजार 741 बच्चों का कोविड-19 का टीकाकरण किया जा चुका है। इसी प्रकार एक हजार 999 हेल्थ केयर वर्कर, 01 हजार 531 फ्रंटलाइन वर्कर, 60 वर्ष से अधिक के 324 को-मार्बिड व्यक्तियों को प्रिकाशन डोज लगाई जा चुकी है। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डा. रेणुका श्रीवास्तव, एसडीएम गुंडरदेही भूपेद्र अग्रवाल, बालोद जीडी वाहिले, गुरूर रश्मि वर्मा, डिप्टी कलेक्टर अमित श्रीवास्तव, जिला टीकाकरण अधिकारी डा. एसके सोनी, डीपीएम डा. भूमिका वर्मा, डा. ग्लैड, डा. देवेंद्र साहू, डा. संदीप मेश्राम सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local