बालोद। ग्राम कोड़ेवा निवासी चमेली बाई यादव अपने एक 10 साल के बेटे के मां और पिता के निधन के बाद टूटे-फूटे मकान में रहने मजबूर है। दूसरों के घर काम कर किसी तरह अपने व अपने बेटे का जीवन चला रही है। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण अपने मकान की मरम्मत भी नहीं करा पा रही है। मकान के अंदर की जमीन इतनी गिली है कि पांव धंसने लगे है।

खास बात यह है की लंबे समय से ग्राम कोड़ेवा में रहने के बाद भी इसे शासन की आवास योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। सोमवार सुबह की वर्षा के बाद इस घर की स्थिति ऐसी है कि कभी भी ढह सकता है।

एक कमरे के मकान में घुसने से भी डर लगता है। लगातार बारिश के बाद मकान की दीवार से कहीं-कहीं मिट्टी गिरने लगी थी। जानकारी होने पर अनेक ग्रामीण यहां उपस्थित हो गए। इनमें ईश्वरी प्रसाद पिपरिया, भीखम चंद, जमुना बाई, नंद कुमार यादव, तुलसी निर्मलकर, अमेरिका बाई, फालेंद्र, होमन निर्मलकर, सुपेत साहू, गणेश यादव आदि ने पंचायत से चमेली के लिए शीघ्र घर की व्यवस्था करने की मांग की है।

इस संबंध में सरपंच कलिंदरी ठाकुर से जानकारी लेने फोन लगाया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। सचिव मुकेश साहू ने बताया कि पिछले तीन साल से कोई भी आवास स्वीकृत नहीं हुए है। आवास प्लस में चमेली यादव का भी नाम है। जैसे ही आवास स्वीकृत होता है इनके लिए भी आवाज स्वीकृत कर दी जाएगी।

विरोध-प्रदर्शन कर साहू समाज ने सौंपा ज्ञापन

उदयपुर की घटना को लेकर रविवार को धमतरी चौक गुंडरदेही में तहसील साहू समाज के लोगों ने विरोध- प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की। हत्यारों को जल्द फांसी देने कि मांग करते हुए राष्ट्रपति के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर पूर्व विधायक विरेन्द्र साहू , तहसील अध्यक्ष रामस्वरूप साहू, पवन सोनवर्षा, टोमन साहू, नरेन्द्र सोनबोईर, केशव साहू, भोजराज साहू, साकेत साहू, टूमन साहू, पंकज चौधरी, मुरली साहू, संदीप साहू, चुकेश्वर साहू, दानेश्वर साहू, अजेंद्र साहू, कुलेश्वर साहू, मनीष साहू, लोकेश साहू, मुकेश साहू सहित बड़ी संख्या में समाज के सदस्य उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close