बालोद। जिला न्यायालय के प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सरोज नंद दास ने पत्नी की हत्या के आरोपित मदन लाल सूर्यवंशी निवासी टीचर कालोनी राजहरा को आजीवन कारावास व एक हजार रुपये के अर्थदंड से दडिंत किया है। प्रकरण के अतिरिक्त लोक अभियोजक चित्रांगद देशमुख व बीपी साहू के अनुसार 23 मई 2021 को प्रार्थी राजहरा माइंस में कार्यरत राजकमल डहरिया ड्यूटी में गया हुआ था।

सुबह शैलेन्द्र भोई ने फोन करके बताया कि उनके साथ काम करने वाले मदन ने अपनी पत्नी नीरादेवी सूर्यवंशी को विवाद के बाद हत्या कर भाग गया है। प्रार्थी अपनी ड्यूटी खत्म कर मदन के घर जाकर देखा तो वहां भीड़ लगी हुई थी और डहरूराम खड़ा था। डहरूराम ने प्रार्थी को बताया कि मदनलाल के भाई जयमल को भी सूचित किया गया है। इसके बाद डहरू राम के साथ मदन के घर के अंदर जाकर देखा तो नीरादेवी की लाश पड़ी थी।

जिसकी रिपोर्ट प्रार्थी राजकमल ने थाना राजहरा में दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पंचनामा तैयार कर पीएम के लिए भेज दिया। इसके बाद पुलिस ने मदन लाल सूर्यवंशी से पूछताछ की। जिसमें आरोपित ने पत्नी के साथ घर में कमरा बनाने की बात को लेकर विवाद होने बाद पत्नी को सोफा फर्नीचर की लकड़ी से सिर को मारकर हत्या करना बताया। पीएम रिपोर्ट आने के बाद मदन के विरूद्घ प्रथम सूचना पत्र पंजीबद्घ कर न्यायालय में पेश किया गया। जहां न्यायालय ने प्रकरण में आये साक्ष्य के आधार पर उक्त दंड से दडिंत किया है।

डिवाइडर से टकराई बाइक, इलाज के दौरान ग्रामीण की मौत

सड़क हादसे में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक के सिर में गंभीर चोट लगने के कारण मौत हुई है। घटना शुक्रवार की रात करीब नौ बजे बालोद से धमतरी मुख्य मार्ग पर ग्राम सांकरा के पास की है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कांडे (बरही ) निवासी भूषण लाल नेताम अपने बच्चों का आय व जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए भूलनडबरी गया था। वहां से जब वह वापस अपने घर ग्राम कांडे जा था तभी बाइक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे डिवाइडर से टकरा गई। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों और ग्रामीणों ने 108 एम्बुलेंस के माध्यम से उसे जिला अस्पताल भेजा। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close