दल्ली राजहरा। नगर पालिका परिषद राजहरा में राजनीतिक हलचल थमने का नाम नहीं ले रही है। जहां पिछले दिनों नगर पालिका के उपाध्यक्ष व आम आदमी पार्टी के नेता संतोष देवांगन ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर दल्ली राजहरा नगर में चल रहे अवैध सट्टा, जुआ सहित अन्य अपराधों की शिकायत करते हुए नियंत्रण ना हो पाने व जन समस्या के मुद्दों पर पहल नहीं होने पर खुद के इस्तीफे की पेशकश की गई थी। तो वहीं अब राजहरा पालिका के 24 पार्षदों ने उनके खिलाफ हो गए हैं।

खास बात यह है कि इन पार्षदों में कांग्रेस और भाजपा के समर्थित पार्षद शामिल हैं। यानी नगर पालिका उपाध्यक्ष संतोष देवांगन को हटाने के लिए दोनों पक्ष विपक्ष एक होकर सामने आ गए हैं। और अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी के नाम से ज्ञापन सौंपा गया है । 24 पार्षदों के साथ अध्यक्ष शीबू नायर भी इस अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में है। अविश्वास प्रस्ताव लाने के पक्ष में क्रमशः पार्षद शिवांगी ध्रुव, ममता नेताम, सोनी दुबे, प्रमिला पारकर, जनक निषाद, बृजमोहन नेताम ,विजयलक्ष्मी, स्वप्निल तिवारी, श्रुति यादव, हेमंत गौतम, विजय भान, चंद्र प्रकाश सिन्हा , शीला भारद्वाज ामिल है।

बता दें कि कुछ दिन पहले संतोष देवांगन द्वारा एक आडियो भी वायरल किया गया था। जिसमें दावा किया जा रहा है कि उनमें नगर पालिका अध्यक्ष शीबू नायर व किसी एक सट्टा खिलाने वाले व्यक्ति के बीच बातचीत हुई है। जिसमें चंदे की रकम मांगी जा रही थी। आडियो वायरल होने के बाद भाजपा कांग्रेस के संयुक्त पार्षद नगर पालिका उपाध्यक्ष संतोष देवांगन को हटाने एकजुट हो गए हैं। देखने वाली बात होगी कि यह राजनीतिक ड्रामा आगे किस मोड़ तक जाती है।

अध्यक्ष व उपाध्यक्ष एक दूसरे पर लगा रहे आरोप

नगर पालिका दल्लीराजहरा इन दिनों सुर्खियों में बना हुआ है। इंटरनेट मीडिया सहित प्रिंट मीडिया के अलावा आम जनों के बीच नगरपालिका अध्यक्ष नायर और उपाध्यक्ष देवांगन आमने-सामने हो गए हैं। आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलने लगा है। पिछले ढाई वर्षो से यह मतभेद फाइल में कैद था। अचानक से ऐसा क्या हुआ की अध्यक्ष-उपाध्यक्ष आमने-सामने हो गए। ज्ञात हो कि नपा राजहरा की असंतोष कार्यप्रणाली को लेकर संतोष देवांगन ने जिला कलेक्टर के समक्ष ज्ञापन सौंपा था।

जिसके बाद नगरपालिका की राजनीति उफान में आ गई और एक साथ 24 पार्षद उपाध्यक्ष के खिलाफ हो गए वही शिबू नायर अध्यक्ष को मिलाकर 25 पार्षद अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी में हैं संतोष देवांगन के पक्ष में एक भी पार्षद नहीं है सिर्फ उनके भाई के अलावा अब देखने वाली बात यह है कि आगामी दिनों में क्या स्थिति बनेगी इसे लेकर नगर वासी असमंजस की स्थिति में है हालांकि आगामी कुछ दिनों में पर्दाफाश हो जाएगा ऐसा राजनीतिज्ञों का कथन है।

उपाध्यक्ष संतोष देवांगन के द्वारा लगाए गए आरोप गलत है। फर्जी तरीके से संतोष ने अविश्वास प्रस्ताव का ज्ञापन कलेक्टर को सौंपा था। जिसमें किसी भी पार्षद का हस्ताक्षर नहीं था, पत्र पूरी तरह फर्जी था। उपाध्यक्ष के खिलाफ में नगर पालिका के 27 में से 24 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव लाने के कलेक्टर को पत्र दे चुके है।

- शीबू नायर, अध्यक्ष,नगर पालिका परिषद राजहरा

पिछले ढाई वर्षो से नगर पालिका अध्यक्ष शीबू नायर की कार्यप्रणाली पूरी तरह नकरात्मक और असंतोषजनक रहा है। अवैध कार्यों को बढावा मिला है। सट्टा एवं अवैध शराब बेचले वालों को अध्यक्ष का संरक्षण प्राप्त है। नगर में उनका कोई भी कंट्रोल नहीं है।

- संतोष देवांगन, उपाध्यक्ष,नगर पालिका परिषद राजहरा

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close