बालोद। समस्याओं के जल्द निराकरण करने के लिए सोमवार से बालोद जिला प्रशासन द्वारा नए स्वरूप में 'जनदर्शन' कार्यक्रम की शुरूआत की गई है। कलेक्टर डा. गौरव कुमार सिंह के निर्देशानुसार अब सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक सभी पांच कार्य दिवसों में जनदर्शन आयोजित की जाएगी। जिससे जिले वासियों की अधिक से अधिक मांगों व समस्याओं का निराकरण किया जा सकेगा। इसके लिए सभी पांच कार्य दिवसों के लिए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। जनदर्शन कक्ष में अब सभी पांच विकासखंडों के लिए अलग-अलग टेबल बनाए गए हैं।

जनदर्शन में प्राप्त आवेदनों को तत्काल संबंधित विभाग को भेजा जाएगा। संबंधित विभाग को तीन दिनों के भीतर प्राप्त आवेदनों का निराकरण करना आवश्यक है। इसके साथ ही आवेदनों के निराकरण की स्थिति की जानकारी भी आवेदकों को दिया जाएगा। जनदर्शन कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संपादित करने के लिए सप्ताह के पांच कार्य दिवसों के लिए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। जिसके अंतर्गत प्रत्येक सोमवार को आयोजित होने वाले जनदर्शन कार्यक्रम के लिए जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डा. रेणुका श्रीवास्तव, पंचायत विभाग के उप संचालक आकाश सोनी एवं जिला मिशन समन्वयक अनुराग त्रिवेदी की ड्यूटी लगाई गई है।

मंगलवार को आयोजित होने वाले जनदर्शन कार्यक्रम के लिए अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी योगेन्द्र श्रीवास्तव, जिला कोषालय अधिकारी मुकुंद भारद्वाज एवं प्रभारी जिला खनिज अधिकारी प्रवीण चन्द्राकर की ड्यूटी लगाई गई है। बुधवार को आयोजित होने वाले जनदर्शन कार्यक्रम के लिए संयुक्त कलेक्टर अभिषेक दीवान, सहायक आयुक्त आबकारी राजेश जायसवाल एवं जिला विपणन अधिकारी सौरभ भारद्वाज की ड्यूटी लगाई गई है।

गुरूवार को डिप्टी कलेक्टर अमित श्रीवास्तव, जिला योजना एवं सांख्यिकी अधिकारी ओपी. देशमुख एवं डीएम नागरिक आपूर्ति निगम विजय शर्मा की ड्यूटी लगाई गई है। इसी तरह शुक्रवार को आयोजित होने वाले जनदर्शन कार्यक्रम के लिए डिप्टी कलेक्टर शीतल बंसल, डीआरसीएस राजेन्द्र राठिया, मुख्य कार्यपालन अधिकारी अंत्यावसायी सतीश राजपूत की ड्यूटी लगाई गई है। पहले दिन आज विभिन्न विभागों के कुल 34 आवेदन प्राप्त हुए हैं। जिसे निराकरण हेतु संबंधित विभाग को प्रेषित किया गया हैं।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close