दल्लीराजहरा (नईदुनिया न्यूज)। दल्लीराजहरा के रेलवे स्टेशन से लगभग तीन किमी दूर बालोद की ओर विद्युत से ट्रेन चलाने के लिए लगाए जा विद्युत तार में पैसेंजर ट्रेन का इंजन फंस गया। जिससे एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। सुबह लगभग पांच बजे बालोद से दल्लीराजहरा आ रहे रेल इंजन के सामने के हिस्से में विद्युत लाइन वाला तार फंस जाने से इंजन को रोकना पड़ा। इंजन में फंसे तार को बड़ी मशक्कत के बाद निकालने के बाद ट्रेन दल्लीराजहरा की ओर रवाना हुई। तार फंसने से लगभग एक किलोमीटर क्षेत्र में 16 विद्युत खंभों में लगे विद्युत तार के क्लैंप छतिग्रस्त हो गए। हालांकि अभी इस तार में करंट की सप्लाई नहीं हुई है। इससे कुछ खंभों के तार टूटने के बाद रेल पटरी पर आ गए। जिसके कारण लगभग तीन घंटे तक इस लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही को रोक दिया गया था। टेकरी से रायपुर की ओर जाने वाली यात्री ट्रेन को पहले दल्लीराजहरा में व बाद में कुसुमकसा रेलवे स्टेशन में रोका गया। यात्री ट्रेन लगभग नौ बजे कुसुमकसा रेलवे स्टेशन से रायपुर के लिए रवाना की गई।

घटना के बाद हरकत में आया रेलवे प्रशासन

गौरतलब है कि बालोद दल्लीराजहरा रेलवे लाइन में विद्युत से ट्रेन चलाने के लिए रेलवे लाइन के किनारे खंभे लगाकर उसमें विद्युत तार लगाया जा रहा है। अभी यह कार्य पूरा नहीं हुआ है लेकिन इस घटना के बाद रेलवे में हड़कंप मच गई है। जानकारी के अनुसार बालों से कुसुमकसा की ओर रेलवे पांत के समीप विद्युत लाइन लगाने के लिए पोल खड़े कर दिए गए हैं। व विद्युत लाइन के लिए तार लगाने का काम चल रहा है लॉकडाउन के चलते काम बंद है। शुक्रवार शाम को आई आंधी के कारण विद्युत तार टूट गया होगा या विद्युत खंभों के बीच लगाए गए तार के बीच-बीच में जंफर नहीं लगाने से तेज आंधी के चलते विद्युत तार नीचे की ओर आ गए होंगे।

0000000000

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local