फोटो क्रमांक - 05

दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

सोमवार को सुबह से वार्ड नं 1,2,5,9 के नागरिकों के द्वारा कन्टेनमेन जोन को हटाने को लेकर वार्ड नं 5 के गेट के पास जमा हो गए सभी लोगों के हाथों में तख्ती थी सबकी मांग थी कि कन्टेनमेन लाक के 17 दिन पूरे हो चुके है वही कोई भी नया कोरोना पजिटिव केस नही मिला है व पजिटिव पेशेंट डिस्चार्ज होकर आ चुका है वही उसके कांटेक्ट में आये सभी लोगो की रिपोर्ट नेगेटिव आई है जबकि 14 दिनों की अवधि भी पूरी हो चुकी है।

हजारों लोग रोजी-मजदूरी करने वाले हैं। वही बीएसपी कर्मचारी, ठेका श्रमिक हैं, जो काम पर भी नहीं जा पा रहे हैं। गरीब लोगों की स्थिति बहुत ही दयनीय हो चुकी है। कई लोगो के पास जरूरत के कई सामान, दवाई, राशन भी नही है अतं कन्टेनमेंट जोन में रियायत दी जावे इसका दायरा कम किया जावे। इसी मुद्दे को लेकर एसडीएम कार्यालय में बैठक हुई जिसमें तहसीलदार प्रतिमा ठाकरे, नायाब तहसीलदार नितिन ठाकुर, सीएसपी अलीम खान के साथ वार्डवासियों सहित अन्य लोग मौजूद थे। चर्चा उपरांत तहसीलदार ने कहा कि हम सारी परिस्थितियों को उच्चाधिकारियों को अवगत कराकर आप लोगों को दो दिन के अंदर अवगत कराएंगे उपस्थित लोगों ने लगभग 200 लोगों का हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन जिलाधीश के नाम सौंपा गया

----------------

सांसद मंडावी को बताई कंटेनमेंट जोन की बदहाली

फोटो क्रमांक - मोहन मंडावी

दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

मोहन मण्डावी सांसद सदस्य (लोकसभा) कांकेर के द्वारा जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर दल्लीराजहरा कन्टेनमेंट जोन एवं मौजूदा क्वारंटाइन सेंटर की बदहाली से अवगत कराया है। उन्होंने पत्र में बताया कि दल्लीराजहरा में कोविड- 19 के संक्रमण के कारण वार्ड नं। 1, 2 5।9 और 24 को प्रतिबंधित (सील) किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार दल्लीराजहरा में कन्टेनमेंट जोन एवं मौजूदा क्वारंटाइन सेंटर में मूलभूत सुविधाओं का अभाव होना पाया गया है। ज्ञात हो कि अधिकाश वार्डो में गरीब तबके के लोग निवासरत है। वार्ड को सैनेटाइज नहीं किया जा रहा है न ही आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है,और न ही वाडोर् में फैली गंदगी को हटाई जा रही है, जिससे जनाआक्रोश बढ़ती जा रही है।अतरू जनसुविधा को -ष्टिगत रखते हुए कन्टेनमेंट जोन एवं मौजूदा क्वारंटाइन सेंटर में आवश्यक मूलभूत सुविधा शीघ्र उपलब्ध कराना चाहेंगे उपरोक्त जानकारी सांसद प्रतिनिधि के द्वारा जारी की गई है।

----------------

कोरोना के बाद टिट्डा दल से परेशान हुए किसान

फोटो क्रमांक -06

दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

अंचल में पहले से ही किसानों को कोरोना जैसी भयावह महामारी सता रही है, इसी बीच अब टिड्डी दल के हमले की आशंका भी किसानों के लिये परेशानी का सबब बनती जा रही है। अंचल के ग्रामीण क्षेत्रों में टिड्डी दलों की उपस्थिति होने के बाद शासन-प्रशासन सहित किसान सकर्त हो गये हैं। रविवार को ही हमले की आशंका के चलते ब्लक में आने वाले सीमावर्ती क्षेत्रों को सतर्क कर दिया गया है।

कृषि विभाग के अधिकारियों सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इसके बचाव के लिये तैयारियां भी की जा चुकी है। खासतौर पर ब्लक के जंगल क्षेत्र व सीमावर्ती क्षेत्रों में विशेष तैयारियां की गई है। बता दें कि इन टिड्डी दल से बचाव के लिये गांवों में मुनादी भी कराई जा रही है जिससे किसान सकर्त हो जाये और अपनी फसलों की बचाव के लिये तैयारी करके रख सके। जानकारों के मुताबिक टिड्डी दल को घने जंगल पार करने में लगभग एक दिन लग जाता है, ब्लक के सीमावर्ती क्षेत्र घने जंगलों से भरे हैं।

इसकी वजह से टिड्डी दल को ब्लक पहुंचने में एक से दो दिन लग सकता है पर हमले की आशंका के चलते अधिकारियों ने पहले से ही तैयारियां कर रखी है। टिड्डा दल के इस बड़ी मुसीबत से बचने किसानों सहित कर्मचारियों को कई तरह की जानकारी भी दी गई है। इसमें ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग करने, धुआं करने, पटाखे फोड़ने, कल्टीवेटर व रोटोवेटर चलाने, कीटनाशकों का छिड़काव करने की सलाह दी गई है।

----------------

दुकान खोलने में छूट के बाद भी कम नहीं हो रही भीड़

फोटो क्रमांक - 07

सोशल डिस्टेंट का नहीं हो रहा पालन, मास्क की अनिवार्यता पर भी प्रश्नचिन्ह

दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

लॉकडाउन के बाद भी शनिवार और रविवार को दुकान खोलने की अनुमति दिए जाने के बाद बाजार में लगातार भीड़ बढ़ रही है। प्रतिदिन सड़कों में लोगों का हुजूम उमड़ रहा है। सोशल डिस्टेंस का कहीं कोई पालन देखने को नहीं मिल रहा। मस्क की अनिवार्यता पर भी प्रश्नचिन्ह लग गया है। अब तो कोरोना वायरस के रोकथाम के चलते 5।0 लॉकडाउन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है लेकिन जिस प्रकार से बाजार में भीड़ उमड़ रही है।

ऐसे में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने का खतरा तेजी से मंडरा रहा है जबकि दल्लीराजहरा सहित अंचल में प्रवासी मजदूरों के आने के बाद से कोरोना पजिटिव के मरीज भी मिल चुके हैं। सतर्कता के लिए अभियान भी चलाया जा रहा है, फिर भी लोग मानने तैयार नहीं है। लोगों को राहत प्रदान करने के लिए अब सप्ताह में 6 दिन दुकान खोलने की अनुमति भी दे दी गई है।

गोमास्ता एक्ट का पालन भी शुरू कर दिया गया है। सप्ताह में छह दिन दुकान खोलने की अनुमति देने तथा समय सीमा बढ़ा देने के बाद भी लोगों की उपस्थिति कम नहीं हो पायी है। बाजार में तो खरीददारी करने भारी भीड़ उमड़ रही है। दल्लीराजहरा के अंतर्गत आने वाले बाजार क्षेत्र के भीतरी क्षेत्र के बाजार में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे के मध्य दुकान खोलने के दौरान बाजार सहित अन्य क्षेत्रों में लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है।

कैसे रुकेगा संक्रमण

बाजार खुलने के साथ ही लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए कुछ दिशा निर्देश भी जारी किए गए हैं। व्यापारियों को दुकान के आसपास सोशल डिस्टेंस का पालन कराने के लिए घेरा आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ-साथ दुकान में काम करने वाले कर्मचारियों को मस्क भी लगाना अनिवार्य किया गया है लेकिन इसका कहीं कोई पालन नहीं किया जा रहा है। ऐसे में संक्रामक फैलने का खतरा मंडरा रहा है।

--------------

लॉकडाउन और कोरोना के भय से पिछड़ गया तेंदूपत्ता का कार्य

फोटो क्रमांक -08

0- समय से पहले ही विभाग ने किया काम बंद

0- गोदामों में चल रहा भंडारण का कार्य

दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

लॉकडाउन तथा कोरोना वायरस के चलते डौण्डी ब्लाक के वनांचल क्षेत्रों में तेंदूपत्ता तोड़ाई का कार्य भी काफी पिछड़ गया है। समय से पहले ही तेंदूपत्ता तोड़ाई पर विराम लगा दिया गया है। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जिले में वर्ष 2020-21 के दौरान तेंदूपत्ता तोड़ाई का लक्ष्य रखा गया था।

एक मई के बजाय 6 मई 2020 से तेंदूपत्ता तोड़ाई का कार्य शुरू किया गया, जिसमें भी कई ठेकेदारों को कोरोना वायरस के रोकथाम के चलते अन्य प्रांतों द्वारा अनुमति नहीं दिए जाने पर स्थानीय स्तर पर ही विभाग द्वारा तेंदूपत्ता की तोड़ाई कराई गई। तेंदूपत्ता तोड़ाई के लिए फड़ तैयार किए गए थे, जहां पर तेंदूपत्ता का संग्रहण तो कर लिया गया है लेकिन इस वर्ष कोरोना वायरस के संक्रमण का फैलाव होने के डर से श्रमिकों ने भी विशेष रूचि नहीं दिखाई। लॉकडाउन के चलते भी तेंदूपत्ता तोड़ाई का कार्य काफी प्रभावित हुआ है। लक्ष्य से काफी कम तेंदूपत्ता की तोड़ाई हो पायी है।

तेंदूपत्ता की क्वालिटी पर भी असर

लगातार अंचल में बेमौसम बारिश के बाद तेंदूपत्ता की -ालिटी पर भी असर पड़ा है। मई के महीने में बेमौसम बारिश होने के बाद जहां तेंदूपत्ता की तोड़ाई प्रभावित हुई है, वहीं -ालिटी भी अच्छी नहीं है। ऐसे में मानक तेंदूपत्ता के संग्रहण पर काफी असर पड़ा है।

---------------

10 से 12 जून के बीच आएगा मनसून

फोटो क्रमांक - 09

0- मौसम बदला पर राहत नहीं मिली

दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

पिछले दिनों दल्लीराजहरा सहित अंचल में हुई बारिश व बादल छाए रहने के बावजूद शहरवासियों व ग्रामवासियों को उमस की वजह से राहत नहीं मिल रही है। शासकीय-अद्धर्शासकीय कर्मचारी जहां उमस एवं भीषण गर्मी की वजह से कूलर व एसी के सामने ही पूरा दिन बिताना पसंद कर रहे हैं, वहीं गृहणियां भी घर पर टीवी के सीरियल देख कूलर व एसी के सामने समय काट रही हैं। अंचल में पिछले दो सप्ताह से मौसम की आए बदलाव के चलते लोगों में स्वास्थ्य संबंधी परेशानी भी देखी जा रही है। रोजाना स्थानीय महारानी अस्पताल में दर्जनों मरीज उल्टी-दस्त, डायरिया, बेचौनी, सिरदर्द आदि की शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं। उमस के चलते लोगों का जीना मुहाल होता जा रहा है।

अंचल में प्री-मनसून ने दी दस्तक

मनसून के पूर्व अंचल में प्री मनसून ने दस्तक दे दी है। रविवार की सुबह से ही बादल छाए रहे। कुछ स्थानों पर जमकर बारिश हुई और दिनभर बूंदाबांदी होती रही। तीन-चार दिनों से पड़ रही नौतपा की तेज धूप से राहत मिली। मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि एक चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य छत्तीसगढ़ पर तथा एक द्रोणिका दक्षिण पूर्व राजस्थान से मध्य छत्तीसगढ़ तक स्थित है। एक द्रोणिका मध्य छत्तीसगढ़ से लक्ष्यदीप तक स्थित है। इनके प्रभाव से अंचल सहित पूरे प्रदेश में तेज अंधड़ और गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है। उन्होंने कहा कि यदि सब ठीक रहा तो दस जून के आसपास अंचल में मनसून दस्तक देगा। केरल में दस्तक देने के बाद दक्षिण-पश्चिम मनसून को बस्तर पहुंचने में करीब दस दिन लगते हैं। पूर्व में 1 जून को केरल में मनसून के दस्तक देने की संभावना व्यक्त की जा रही थी, लेकिन 30 जून को दस्तक दे दी। जिले में -षि विभाग भी सुस्त पड़ गया है। विभागीय सूत्रों के अनुसार किसानों को बीज का वितरण किया जा रहा है। साथ ही -षकों को शीघ्र पकने वाले धान लगाने की जानकारी दी जा रही है। क्षेत्र के अधिकतर हिस्सों में जुताई तेजी से चल रही है।

---------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना