बालोद। छह साल से एक अदद राशन कार्ड के भटक रहे गरीब परिवार के चेहरे पर उस वक्त मुस्कान लौटा जब क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य पुष्पेंद्र चंद्राकर की पहल पर उन्हें नवीन राशन कार्ड छह घंटे में मिल सका।

जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक में अपने तेवर दिखाते हुए बीते दिनों जिला पंचायत सदस्य पुष्पेंद्र चंद्राकर ने सदन की पटल पर तीखे सवाल खड़े करते हुए शीघ्र राशन कार्ड जारी करने की मांग की थी। ग्राम करंजाबांधा निवासी गरीब यादव परिवार को जिला पंचायत सदस्य पुष्पेंद्र चंद्राकर के प्रयासों से कार्ड मिलने पर संबंधित हितग्राही परिवार ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए जिला पंचायत सदस्य पुष्पेंद्र चंद्राकर के प्रति आभार प्रकट किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2014 के सर्वे के दौरान करंजाबांधा निवासी गरीब केशव यादव का राशन कार्ड यह कहते हुए जमा कर लिया गया था कि भाई के राशन कार्ड में तुम्हारे परिवार का नाम जोड़ दिया जाएगा। लेकिन छह साल बाद भी न तो भाई के राशन कार्ड में इनका नाम दर्ज किया गया और न ही नया राशन कार्ड जारी किया गया।

विगत छह सालों से गरीब केशव राशन कार्ड के लिए दर दर भटकता रहा था, लेकिन उनकी इस समस्या का निदान नहीं हो सका। इस दौरान उन्होंने प्रत्येक स्तर पर अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व कार्यालयों के चक्कर लगाते रहे, फिर भी राशन कार्ड नहीं बन सका। परिवार में दो बच्चे व पत्नी भी निवासरत हैं।

बीपीएल सूची में होने के बाद भी राशन कार्ड के अभाव में केशव को किसी भी योजना का लाभ नहीं मिल रहा था, तब उन्होंने जिला पंचायत सदस्य पुष्पेंद्र चंद्राकर से संपर्क किया। केशव यादव ने चर्चा में बताया कि इतने सालों तक मेरी व्यथा को कोई सुन ही नहीं रहा था तब जाकर पुष्पेंद्र चंद्राकर ने इसे संज्ञान में लेते हुए राशन कार्ड बनवाया, हम सभी परिवारजन पुष्पेंद्र चन्द्राकर के प्रति कृतज्ञता भाव से आभार प्रकट करते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local