गुंडरदेही(नईदुनिया न्यूज)। सिकोसा को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने व की मांग मुख्यमंत्री के बालोद आगमन पर सिकोसा सरपंच आरोप चंद्राकर ने की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बालोद जिला आगमन पर ग्राम पंचायत सिकोसा के सरपंच ने सिकोसा ग्राम पंचायत को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने, 10 बिस्तर अस्पताल खोलने सहित विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा।

ब्लाक मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत सिकोसा के सरपंच आरोप चंद्राकर ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि ग्राम पंचायत सिकोसा व आश्रित ग्राम मनहोरा की जनसंख्या लगभग 5600 है। ग्राम पंचायत में नागरिकों के लिए नल जल योजना, उप स्वास्थ्य केंद्र, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक, ग्रामीण बैंक, देना बैंक, पशु चिकित्सालय, शराब दुकान सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध है। इसके बावजूद भी ग्राम सिकोसा को नगर पंचायत का दर्जा नहीं मिल रहा है। इसके लिए पूर्व पंचवर्षीय में भी मांग कर चुके हैं। व्यापारियों, नागरिकों व जनप्रतिनिधियों द्वारा इसके लिए मौखिक रूप से सहमति भी दी जा रही है। सरपंच आरोप चंद्राकर ने कहा कि ग्राम की चहुंमुखी विकास के लिए ग्राम सिकोसा को नगर पंचायत का दर्जा मिलना आवश्यक है।

दशहरा उत्सव में शामिल होने की मांग

सरपंच आरोप चंद्राकर ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को नवरात्रि पर्व के बाद 20 अक्टूबर को दशहरा उत्सव में शामिल होने की मांग की। उन्होंने कहा कि ग्राम सिकोसा में दशहरा पर्व पर हर्षोल्लास के साथ धूमधाम से मनाया जाता है व आसपास के 50 गांव के ग्रामीण इस कार्यक्रम में शामिल होते हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री की उपस्थिति में यह कार्यक्रम भव्य तरीके से सम्पन्न होगा।

10 बिस्तर शासकीय अस्पताल की मांग

सरपंच आरोप चंद्राकर ने कहा कि लगभग 5600 की आबादी वाला ग्राम पंचायत वर्षों से 10 बिस्तर शासकिय अस्पताल के लिए तरस रहा है। 10 बिस्तर अस्पताल आरंभ करने के लिए शासन प्रशासन को कई बार मांग कर चुके हैं, परंतु आज तक कोई आश्वासन नहीं मिला है। रोजाना ग्राम में आसपास के दर्जनों ग्रामीणों का आवागमन बना रहता है। नागरिकों एवं राहगीरों की स्वास्थ्य के लिए ग्राम सिकोसा में 10 बिस्तर अस्पताल आवश्यक है। सरपंच ने बताया कि शासकीय अस्पताल के लिए पंचायत द्वारा स्थान आरक्षित किया गया है।

शासकीय महाविद्यालय की मांग

सरपंच ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन देते हुए कहा कि ग्राम सिकोसा दुर्ग बालोद मुख्य मार्ग में स्थित है। आसपास के दर्जनों ग्रामों का मुख्य मार्ग होने के कारण यहां लोगों का हमेशा आवागमन बना रहता है। वहीं, लगभग 20 ग्रामों के स्कूली बच्चे भी इसी मार्ग से लगभग 20 किलोमीटर का सफर तय कर शासकीय महाविद्यालय गुंडरदेही में अध्ययन करने पहुंचते हैं। शासकीय महाविद्यालय की दूरी अधिक होने के कारण विद्यार्थियों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। जिसको देखते हुए ग्राम पंचायत सिकोसा द्वारा शासकीय महाविद्यालय के लिए जगह भी आरक्षित कर लिया है इसलिए जल्द ही हमारी मांगों को पूर्ण किया जाए। उल्लेखनीय है कि पूर्व में संसदीय सचिव के सिकोसा आगमन पर भी उन्होंने मांग पत्र सौंपा था। सरपंच आरोप चंद्राकर पूर्व में सरपंच रह चुके हैं, वहीं सरपंच बनने के बाद से गांव में बेरोजगारी को देखते हुए हाट बाजार को एक व्यवसायिक कांप्लेक्स में परिवर्तन कर बेरोजगारों इधर-उधर भटकना न पड़े इसलिए लिए रोजगार उपलब्ध कराएं हैं, जिसके लिए सरपंच आरोप चंद्राकर की काफी प्रशंसा हो रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local