बालोद। अटल रह तू बस अपने फैसलों पर, चलता रह मत रख नर फासलों पर, मंजिल मिलेगी जरूर तुझे तू बस टिका रह अपने हौसलों पर... इस लाइन को चरितार्थ करते हुए आजादी के अमृत महोत्सव के साथ ही छत्तीसगढ़ शासन द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम-हर घर तिरंगा के तहत इंडियन एडवेंचर फाउंडेशन छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में प्रदेश की सबसे ऊंची चोटी गौरलाटा पर विशाल तिरंगा लहराया गया। प्रदेश के विभिन्न जिलों के माउंटेन ट्रेकर द्वारा कठिनाई भरी रास्तों से बलरामपुर जिले के चांदो वन परिक्षेत्र में स्थित प्रदेश की सबसे ऊंची चोटी गौरलाटा पीक (ऊंचाई 4019 फीट) पर आजादी के 75 वीं वर्षगांठ पर 75 फीट लंबी विशाल राष्ट्र ध्वज लहराकर एक नया कीर्तिमान रचा गया।

इस ट्रैक के लिए बालोद जिले के ग्राम पंचायत खामतराई (पिनकापार) से रूपेश कुमार पिता हेमंत कुमार और लोकेश कुमार पिता खेमलाल ने अदम्य साहस के साथ ट्रैक को पूरा कर 15 अगस्त 2022 को सुबह 9ः07 बजे पीक सबमिट कर टीम के साथ मां भारती और छत्तीसगढ़ महतारी के जयकारे के साथ विधिवत पूजा-अर्चना कर, राष्ट्रगान और राजकीय गीत गायन कर विशाल राष्ट्र ध्वज तिरंगा लहराया और टीम ने संयुक्त रूप से एक नया कीर्तिमान अपने नाम किया।

मिशन गौरलाटा में विभिन्न जिले के ट्रैकर थे शामिल

गौरलाटा ट्रेक के लिए बालोद जिले से रूपेश कुमार, लोकेश कुमार व राजनांदगांव से नीतेश अग्रवाल और जितेंद्र साहू, बेमेतरा से कुणाल गुप्ता, गरियाबंद से खेमराज साहू ने अपने जिले का प्रतिनिधित्व कर विशाल 75 फीट का तिरंगा लहराया। सफल ट्रेकिंग के लिए मुख्य रूप से, राजनांदगांव महापौर हेमा सुदेश देशमुख एवं छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल के सदस्य निखिल द्विवेदी, बलरामपुर जिले से विधायक प्रतिनिधि राजा चौबे एवं संतोष सिंह, स्थानीय ट्रेकर साथी बलजीत बिंझवार, संदीप बिंझवार व दौलन कुमार यादव का विशेष सहयोग रहा।

इससे पहले कर चुके हैं दो चोटी फतह

पर्वतारोहण के क्षेत्र में रूपेश साहू और लोकेश साहू ने इससे पहले उत्तराखंड राज्य के कर्कोटक ट्रेक (6319 फीट) और नैनीताल की सबसे ऊंची चोटी चाइना पीक (ऊंचाई 8622 फीट) फतह कर बालोद जिले को गौरवान्वित कर चुके हैं।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close