बालोद। गुरुर थाना क्षेत्र में पत्रकारिता के नाम पर डरा धमकाकर उगाही का एक और मामला सामने आया है । एक हफ्ते पहले ही एक प्रिंट मीडिया के पत्रकार कहे जाने वाले कृष्ण गंजीर जमानत पर रिहा हुए थे। उन्हें गुरुर पुलिस ने उगाही के आरोप में रिमांड पर फिर जेल भेजा है। इनके साथ ही उनके साथी अमित मंडावी को भी जेल भेजा गया है। वह भी एक प्रिंट मीडिया में खुद को पत्रकार बताते थे। दोनों के द्वारा मोखा के पटवारी पोषण लाल गंगासागर से एक लाख की अवैध उगाही की गई थी, जिसकी पटवारी ने लिखित शिकायत की थी। जिसके आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया और दोनों तथाकथित पत्रकारों को गिरफ्तार किया गया।

जानकारी के अनुसार आरोपितों द्वारा पटवारी की किसी से पैसा लेते हुए फोटो खींचा गया था, जबकि ऐसा कुछ नहीं हुआ था। फोटो के आधार पर उन्हें ब्लैकमेल किया जा रहा था। दोनों तथाकथित पत्रकारों द्वारा पटवारी को नौकरी खा लेने की धमकी दी जा रही थी और उनसे दो लाख रुपये की मांग की गई थी। नौकरी बचाने के डर में पटवारी ने आरोपितों को एक लाख रुपये भी दे दिए थे। उनके अकाउंट में पैसा ट्रांसफर किया गया था। जिसके बाद फिर एक लाख और मांग की जा रही थी। इससे तंग आकर पटवारी ने पुलिस थाने में शिकायत की।

अपराधों पर रोकथाम के लिए चलाएं जागरूकता अभियान'

वार्ड 26 नेहरू नगर की पार्षद व सदस्य जिला अपील समिति टी ज्योति ने मंगलवार को कलेक्टर डा. गौरव कुमार सिंह को ज्ञापन देकर स्कूली छात्रों और नाबालिग बच्चों के बीच बढ़ रहे अपराधों की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान चलाने की मांग की। उन्होंने जिला और पुलिस प्रशासन से संयुक्त पहल करने की मांग की ताकि बच्चों को सही रास्ता दिखा जा सके। कहा गया कि स्कूलों में कम से कम 1 घंटे बच्चों को मार्गदर्शन देने की पहल की जाए। पार्षद ने ज्ञापन के माध्यम से चिंता जाहिर किया कि दल्लीराजहरा नगर सहित बालोद जिले में छोटे-छोटे बच्चों द्वारा गलत कदम उठाया जा रहा है। बच्चे नशे की ओर बढ़ रहे हैं। इसके निदान हेतु बच्चों को सही मार्गदर्शन की जरूरत है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close