डौंडीलोहारा। गणतंत्र दिवस पर अपने देश के वीर जवानों को याद करने व देश के संविधान को जानने का अवसर आया है, इसी तारतम्य में रविार को जिला स्तरीय आनलाइन बाल संस्कार शाला प्रति रविवार की भांति इस रविवार को 23 जनवरी को प्रात 10 बजे प्रारंभ हुआ।

जिसमें बच्चों को ' वह व्यवहार दूसरों के साथ ना करें जो हमें अपने लिए पसंद नहीं ' पर व्याख्यान दिया गया। इसमें कहानी के माध्यम से समझाया गया तत्पश्चात भोजन संबंधित शिक्षण जीवन जीने की कला के अंतर्गत चित्रों के माध्यम से हम कैसे भोजन करें, इस पर छात्रों को अवगत कराया गया।

इसमें बालोद के डौंडीलोहारा ब्लाक से गीतांजलि निषाद भाषण, शशांक देशमुख भाषण, वर्णिका साहू भाषण, गुंडरदेही ब्लाक से मोनाली साहू नृत्य, चैतन्य साहू सांग देश भक्ति , गुरुर ब्लाक से खुशबू साहू, मीनाक्षी साहू, काजल साहू, कुमकुम साहू नृत्य, डौंडी से निखिल चित्रकला, कान्हा साहू, केमन साहू योग की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का समापन शांति पाठ से हुआ। कार्यक्रम को आचार्य पीलू राम साहू, उर्मिला सिन्हा, वीरेंद्र साहू, दिलेश्वर साहू, मुकेश साहू, अनीता साहू, शोभना देशमुख, टीकम साहू, स्लेखा साहू, रेणुका गंजीर पालको में नीलेश देशमुख, इंद्राणी साहू जुड़े हुए थे। जिला समन्वयक ह्वी एस अठनागर, समन्वयक दशरथ कलिहारी, युवा समन्वयक दिलीप निर्मलकर, भोलेश्वर सिन्हा ब्लाक समन्वयक भोलाराम साहू ने सभी पालकों से आह्वान किया है कि अपने बच्चों को इस संस्कार विधा में अधिक से अधिक संख्या में जोड़े ताकि यह बच्चे संस्कारित होकर परिवार समाज देश का नाम रोशन करें। आचार्य मिलन सिन्हा ने बताया की इस आनलाइन के माध्यम से बच्चे देश के विभिन्न कोने-कोने से जुड़कर संस्कारशाला में जीवन जीने की कला सीख रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local