बालोद (नईदुनिया न्यूज)। बालोद जिले के ग्राम मटिया (अर्जुंदा) का एक ऐसा स्कूल जहां सिर्फ योग दिवस नहीं बल्कि सप्ताह के हर शनिवार को योग की कक्षा लगाई जाती है और वह भी खास तरीके से। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला की शिक्षिका पुष्पा चौधरी स्कूल परिसर में स्कूल के बच्चों के अलावा गांव के लोगों को योग की शिक्षा के साथ-साथ नशा मुक्ति का संदेश भी देती है।

नशे से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी देते हुए उन्हें सही राह पर लाने का प्रयास भी शिक्षिका कर रही है। वे ग्रामीणों को इस आयोजन से जोड़ने का प्रयास करती है ताकि सभी को इसका लाभ मिल सके। इस क्रम में इस शनिवार को स्कूल में मुख्यमंत्री शाला सुरक्षा योजना कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसके अंतर्गत डायरिया संबंधी जानकारी, ओआरएस घोल तैयार करने की विधि, डायरिया के लक्षण, उपचार आदि की जानकारी पुष्पा व परमानंद साहू ने बच्चों को दी।

नशा मुक्ति के लिए रैली निकाली

अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस के अवसर पर शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला मटिया के बच्चों के द्वारा अपने ग्राम मटिया में भ्रमणकर नशा मुक्ति के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया। कक्षा छठवीं से आठवीं के बच्चों ने गांव के गली-मोहल्ले में घूम कर नशा छोड़ने,नशा नाश की जड़ है नारा के साथ नशा छोड़कर सुखमय जीवन जीने का संदेश दिया। प्रधान पाठक डोमार सिंह चंद्राकर के मार्गदर्शन में कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है। विगत 21 जून को विश्व योग दिवस के अवसर पर जनप्रतिनिधियों, स्कूली छात्र-छात्राओं, ग्रामीण व शाला प्रबंधन समिति के सदस्यों ने एकसाथ योगाभ्यास किया था। जिससे कई ग्रामीण प्रोत्साहित हुए और वह अब नियमित योग को अपना रहे हैं। कार्यक्रमों में सरपंच, उपसरपंच सहित अन्य उपस्थित थे।

बैनर, पोस्टर के माध्यम से नशे से दूर रहने चलाया जागरूकता अभियान

रविवार को अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस के अवसर पर इंडियन फार्मासिस्ट एसोसिएशन के तत्वावधान में पोस्टर-बैनर के साथ बाइक रैली निकालकर लोगों को जागरूक करने का प्रयत्न किया गया। इंडियन फार्मासिस्ट असोसिएशन के अध्यक्ष भोज साहू ने बताया कि आज समाज नशा के गिरफ्त में बच्चे, जवान और बुजुर्ग धीरे-धीरे आ रहें हैं जिसके कारण गांव कस्बा शहर घर परिवार व समाज में व्यवधान उत्पन्न कर रहे है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close