राजपुर(नईदुनिया न्यूज)। क्वारंटाइन सेंटर में कथित रूप से युवक के साथ मारपीट के बाद केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह द्वारा जनपद सीईओ और तहसीलदार के प्रति नाराजगी जताए जाने पर कांग्रेस हमलावर हो गई है। जिला कांग्रेस कमेटी बलरामपुर ने केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह पर अधिकारी-कर्मचारियों को धमकाने का आरोप लगाया है।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेंद्र तिवारी ने प्रेस को जारी बयान में कहा है कि सार्वजनिक रूप से केंद्रीय राज्यमंत्री ने जिस व्यवहार का परिचय दिया, वह केंद्रीय मंत्री पद की गरिमा के अनुरूप नहीं हैं। आज कोरोना से लड़ाई में सरकारी कर्मचारी-अधिकारी, डाक्टर, स्वास्थ्य कर्मी और पुलिस के जवान अग्रिम पंक्ति के सिपाही की भूमिका निभा रहे हैं। कोरोना योद्धाओं के लिए धमकी की भाषा का प्रयोग करके रेणुका सिंह ने उजागर कर दिया है कि केंद्र की मोदी सरकार और भाजपा का वास्तविक चाल चरित्र और चेहरा कैसा है। छत्तीसगढ़ शांति प्रेम और सद्भाव का प्रदेश है और ऐसी प्रवृत्ति का प्रदर्शन करने वाले नेताओं का छत्तीसगढ़ की राजनीति में कोई स्थान नहीं है। उन्होंने कहा है कि समूचा छत्तीसगढ़ जानता है कि राज्य में 15 वषोर् तक भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अफसरशाही को किस तरह से बढ़ावा दिया था। आज जब राज्य की सरकार ने उस पर नियंत्रण कर के और जन सेवा का कार्य अपने हाथ में ले लिया है। ऐसे हालात में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को उकसाने का कार्य लगातार बलरामपुर रामानुजगंज जिले में किया जा रहा है जो अत्यंत शर्मनाक है इसके पूर्व भी राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम ने भी जिस भाषा का उपयोग किया था वह निंदनीय है। ऐसी भाषा समाज में अलगाव की प्रवृत्ति को जन्म देती है। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को भयभीत करने के उद्देश्य से लगातार इस तरह की खबरें आ रही है, जहां भारतीय जनता पार्टी के समर्थित जनप्रतिनिधि और उनके वरिष्ठ कार्यकर्ता क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भयभीत कर डरा धमका रहे हैं, जो प्रजातंत्र के लिए उचित नहीं है। देश कानून से चलता है। प्रजातंत्र में आम आदमी जनप्रतिनिधि सबके समान अधिकार हैं और जब कानून बनाने वाले मंत्री व सांसद ऐसे कदम उठाएंगे तो फिर जनता स्वाभाविक तौर पर उग्र व स्वच्छंद होगी, जिससे समाज में कटुता का वातावरण बनेगा जिसे बाद में नियंत्रित करना इस तरह के आचरण करने वाले मंत्री व सांसदों के लिए अत्यंत दुष्कर होगा।

एक पक्ष को सुनकर बातें करना न्याय संगत नहीं

जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजेंद्र तिवारी ने कहा है कि क्वारंटाइन सेंटर के जिस मामले को लेकर केंद्रीय राज्यमंत्री ने धमकी भरे अंदाज में बातें की है, उसकी सत्यता के लिए सर्वप्रथम जांच किया जाना आवश्यक है। यदि कोई दोषी है तो उसे दंडित किया जाए, परंतु सिर्फ एक पक्ष की बात सुनकर के संकट के काल में सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों का मनोबल गिराना बिल्कुल उचित नहीं है। शब्दों और भाषा का उपयोग जिस तरह से किया गया है। वह मानवीय मूल्यों को न्यून करती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना