रामानुजगंज। नईदुनिया न्यूज

स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मारपीट में आहत लोगों का पत्रकारों के द्वारा फोटो और वीडियो बनाने का विरोध करते हुए इलाज कर रहे डॉक्टर ने एक पत्रकार का मोबाइल छिनकर पटक दिया। इससे पत्रकारों एवं चिकित्सक के बीच विवाद की स्थिति बन गई। कलेक्टर के निर्देश पर मौके पर पहुंचे एसडीएम ने दोनों पक्षों का समझौता कराया।

मारपीट में आहत लोग का ऑपरेशन थिएटर में इलाज चल रहा था। इस दौरान एक संवाददाता सुनील पासवान सहित अन्य लोग मौके पर फोटो और वीडियो बना रहे थे। उपस्थित पत्रकारों ने आरोप लगाते हुए कहा कि इसी बीच इलाज कर रहे डॉ. रमेश कुमार ने विरोध करते हुए मोबाइल छीन लिया और जमीन पर पटक दिया। इसकी सूचना पर कई पत्रकार अस्पताल पहुंच गए एवं डॉक्टर के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। पत्रकारों ने इसकी जानकारी कलेक्टर संजीव कुमार झा को दी। कलेक्टर के निर्देश पर रामानुजगंज एसडीएम अशोक कुमार लकड़ा एवं थाना प्रभारी भारद्वाज सिंह भी पहुंच गए। डॉ.रमेश कुमार और पत्रकार सुनील पासवान को अलग-अलग कमरों में बैठा कर बयान लिया गया। उसके बाद पत्रकारों ने डॉक्टर के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की। एसडीएम ने दोनों पक्षों को बुला समझौता करा दिया और एसडीएम सहित अन्य लोगों ने डॉ.रमेश कुमार को मृदुभाषी बनने की सलाह दी गई एवं विवाद न करने कहा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket