बरियो(नईदुनिया न्यूज)। कोरोना जांच की अलग-अलग रिपोर्ट मरीजों को असमंजस में डाल रही है। दो शासकीय चिकित्सालय की रिपोर्ट में अंतर भी आ रहा है। ऐसे में मरीज असमंजस में हैं कि वाकई में वे कोरोना संक्रमित हैं या नहीं। ताजा मामला राजपुर विकासखंड के घटगांव से जुड़ा हुआ है। यहां के एक व्यक्ति को मामूली स्वास्थ्यगत परेशानी थी। वे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आरा में उपचार कराने के लिए पहुंचे थे। नियमों के तहत यहां आने वाले मरीजों की कोरोना जांच भी एंटीजन किट से की जा रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आरा की जांच रिपोर्ट में संबंधित व्यक्ति को कोरोना पाजिटिव बता दिया गया। कोरोना संक्रमण से बचाव के नियमों की जानकारी देकर उसके घर के बाहर कोरोना संक्रमित मरीज का पोस्टर भी चस्पा कर दिया गया। संबंधित व्यक्ति को लग रहा था कि वह कोरोना पाजिटिव नहीं है। इसी की पुष्टि के लिए वह दोबारा नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र बरियो पहुंचा। यहां भी उसकी कोरोना जांच की गई। यहां भी एंटीजन किट से कोरोना की जांच की गई। यहां जांच रिपोर्ट निगेटिव बताई गई। दो शासकीय अस्पतालों में कोरोना की अलग-अलग रिपोर्ट ने संबंधित व्यक्ति को मुश्किल में डाल दिया है। पास पड़ोसियों का व्यवहार भी बदल गया है। ऐसी स्थिति में कोरोना की जांच रिपोर्ट को लेकर ग्रामीण क्षेत्र में अविश्वास की स्थिति भी बन रही है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close