बेमेतरा(नईदुनिया न्यूज)। कोरोना महामारी की दूसरी लहर केबीच एक बार फिर 108 संजीवनी की टीम फ्रंट लाइन वारियर्स की भूमिका में है। बात चाहे आपातकालीन सेवा की हो या कोरोना संक्रमितों को हास्पिटल पहुंचाने की। संजीवनी कर्मी पूरी निष्ठा से अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं। बीते 18 दिन ( 1 से 18 अप्रैल) में 108 संजीवनी एक्सप्रेस की एंबुलेंस द्वारा 244 कोरोना मरीजों को हास्पिटल पहुंचाया गया है।

तपती धूप केबीच 108 के ईएमटी- पायलट पीपीई किट पहने संक्रमितों को त्वरित हास्पिटल पहुंचाकर उनकी जान बचाने में लगे हुए हैं। इस दौरान स्वयं केभी संक्रमित होने का भय बना रहता है। लेकिन अपनी चिंता किए बिना निःस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा में जुटे हुए हैं । इसके साथ ही 108 के ईएमटी-पायलट केस से आने के दौरान लोगों को जागरूक करने का भी कार्य कर रहे हैं। टीम द्वारा मास्क पहनने के साथ ही दो गज की दूरी के नियम का पालन करने की अपील लोगों से की जा रही है।

जरुरतमंदों की सेवा करना ही जीवन का उद्देश्य

108 संजीवनी एक्सप्रेस में ईएमटी के रूप में कार्यरत नरेंद्र वर्मा ने बताया कि जब से कोरोना के संदिग्ध मरीज आने शुरू हुए तब से कोरोना के लिए आरक्षित एंबुलेंस में सेवाएं दे रहा हूं। ड्यूटी केदौरान हर समय संक्रमित होने का भय बना रहता है। इस मुश्किल समय में लोगों को सेवाएं देने में गर्व महसूस हो रहा है। ड्यूटी के दौरान खुद के संक्रमित होने का डर रहता है, फिर भी पीपीई किट पहनकर मरीजों को अस्पताल पहुंचाते हैं। अभी तक तक़रीबन 100 कोरोना संक्रमितों को हास्पिटल व कोविड सेंटर पहुंचा चुका हूं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags