बेरला। नईदुनिया न्यूज

विकासखंड बेरला में विगत दौर से पूरे क्षेत्रभर में अवैध चिकित्सकीय कारोबार व उनके क्लीनिक पूरी तरह प्रशासन की जानकारी में चल रहे है। जिस पर प्रशासन की मेहरबानी मानी जाऐ मबूरी? क्योंकि वर्तमान में जिले में चिकित्सकीय क्षेत्र में काफी कोलाहल मची हुई है। जहां एक ओर प्रशिक्षित डिग्रीधारी चिकित्सक व प्रशासन द्वारा मन्यता प्राप्त दवाखना में मरीजों की आवाजाही कम है। तों वहीं उसके उलट पूरे अंचलभर में झोलाछाप डॉक्टरों की जबरदस्त पकड़ बनी हुई है। जो अवैध व गैर तरीके से बिना कोई लाइसेंस व डिग्री के प्रशासन की नियमों की धज्जियां उड़ाकर भोली-भाली आम जनता को खूब ठग रहे है।

गौरतलब है कि ग्रामीण अंचलों से बेरला विकासखंड में इन दिनों स्थानीय झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार होने से आम आदमी को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके कारण कई बीमारियों पर उचित समय पर उचित इलाज न हो पाने से गंभीर स्थिति पर आकर अंजाम भुगतने को मजबूर है। वहीं हाइकोर्ट द्वारा कुछ वर्ष पूर्व सभी प्रशासन को गैर चिकित्सकीय कार्य व अवैध संस्था को इससे जुड़े लोगों द्वारा बंद करने के लिए व कारण बताओ नोटिस जारी कर सख्त आदेश दिया गया था। लेकिन उसका अवहेलना जिला प्रशासन बेमेतरा में स्पष्ट दिख रहा है। जिससे आमजनों में प्रशासन के प्रति विश्वसनीयता कम होती जा रही है।

बेरला विकासखंड अंतर्गत क्षेत्र में अवैध चिकित्सकीय कार्य व गतिविधियों के प्रति हम तत्पर है। इस संबंध में सूची जिला प्रशासन को सौंपी जा चुकी है। आगामी दिनों में जल्द ही इस पर संज्ञान में लाकर क्रमवार नियमतः कार्रवाई अवैध चिकित्सकों पर होगी।

कुंजाम, विकासखंड चिकित्सा अधिकारी बेरला