बेमेतरा (नईदुनिया न्यूज)। बेमेतरा पुलिस ने बुर्जुग की हत्या के मामले में 24 घ्ांटे के अंदर बड़ा राजफाश किया है। आरोपित कोई और नहीं बल्कि पुत्र ही पिता का हत्यारा निकला। पुलिस की माने तो सात अगस्त को दर्ज रिपोर्ट के आधार पर अतरझोला थाना साजा रहवासी (आरोपित) पुत्र दौवा सोनकर ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उनके पिता गिरधारी सोनकर (मृतक) का शव सुरही नदी में उतराता हुआ नजर आया।

शव को गांव के लोगों के साथ पानी से बाहर निकालकर देखा तो पिता के सिर में चोट लगा था। कमर में बिजली सर्विस वायर से पत्थर बंधा था। वहीं पुरे मामले में छानबीन की गई तो आरोपित दौवा सोनकर ने जुर्म स्वीकार किया । जिसे गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया।

पैसे को लेकर होती थी अक्सर लड़ाई

आरोपित ने बताया कि पिता गिरधारी सोनकर उसे और मां को घर खर्च के लिए रुपये नही देता था।जिसको लेकर अक्सर घर में लड़ाई हुआ करता था। जिसके बाद आरोपित ने पिता की हत्या करने की मंशा बनाकर पांच अगस्त को शाम छह बजे अपने खेत में बने कुंदरा झोपडी के अंदर में पिता के सिर में कुदारी से मारकर हत्या कर दी। कमर में बिजली सर्विस वायर से पीठ तरफ बोल्डर पत्थर बांधकर अपने खेत पास सुरही नदी में फेक दिया। आरोपी दौवाराम सोनकर के निशानदेही पर कुदारी, पत्थर, बिजली सर्विस वायर और अन्य (आलाजरब) जप्त किया गया।

पिता घर नहीं आया तब हुई खोजबीन

मृतक गिरधारी सोनकर रोजाना सुबह आठ बजे खेत में काम करने जाया करता था। खाना पहुंचाने खेत में बेटा ही जाया करता है। उस दिन भी पिता को बताकर खाना को खेत के मेड के नीम झाड में खाना को टांग दिया । पिता को बोला की घर में सबका तबियत खराब है। इलाज के लिए लकडी बेचा हुं जिसका पैसा लाने बढाई के पास ग्राम बरगडा जाउंगा । जिस पर पिता नक उसे 100 रुपये दिया था । उस दिन मृतक रात्रि में घर नही आया ।तब दुसरे दिन सुबह खाना छोडने खेत गया था।

उस समय पिता खेत में नही था। कही इधर-उधर गया होगा। लौटकर वापस घर आ गया। शाम को जब इसके पिता घर नही आया ।तब अपने गांव के लोगों के साथ अपने खेत के आसपास पिता का पता तलाश किये कोई पता नही चला। गांव वालो के साथ पता तलासी करने खेत तरुफ गया तो गिरधारी सोनकर का शव इसके खेत से लगे हुए सुरही नदी के किनारे पानी में मिला।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close