बेमेतरा। Breaking News : स्थानीय पुलिस प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के खिलाफ इंटरनेट मीडिया पर अनर्गल टिप्पणी और लाइव प्रसारण के मामले में शनिवार को बेमेतरा सिटी कोतवाली पुलिस ने स्थानीय गंजपारा निवासी सूर्या चौहान उर्फ सुरेंद्र को गिरफ्तार किया। सूर्या असम राइफल्स का जवान है। कोतवाली में उक्त जवान के खिलाफ तीन अलग-अलग धाराओं में मामले दर्ज हैं। इससे पहले बेमेतरा पुलिस के द्वारा आर्मी हेड क्वार्टर में सूचना देकर सूर्या चौहान को नोटिस भेजा गया था। शुक्रवार को पुलिस व एसडीओपी राजीव शर्मा के नेतृत्व में उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया और जमानत नहीं मिलने पर जेल दाखिल करवा दिया गया।

लाइव कमेंट विवाद की वजह

उक्त आरक्षक स्थानीय पुलिस प्रशासन तथा जनप्रतिनिधियों के खिलाफ लगातार इंटरनेट मीडिया में लाइव प्रसारण कर आपत्तिजनक बातें करता था। शहर के कई लोगों द्वारा उसकी इस हरकतों की लगातार निंदा भी की जाती रही है। समझाया भी गया, किंतु आरक्षक लगातार किसी न किसी मुद्दे को तूल देकर स्थानीय पुलिस प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के खिलाफ अनर्गल टिप्पणी करता रहा। इसकी शिकायत कोतवाली बेमेतरा में भी दर्ज की गई थी।

गिरफ्तारी के बाद तनाव का माहौल, झूमाझटकी भी हुई

ड्यूटी के दौरान जिस तरह से इंटरनेट मीडिया में लगातार अनर्गल टिप्पणी की जाती रही है, उसे लेकर स्थानीय लोगों में खासी नाराजगी रही। लोगों को जब इस बात की जानकारी हुई कि सूर्या सिंह चौहान के गिरफ्तारी हुई है तो लोगों ने तहसील कार्यालय एवं कलेक्टर निवास के समक्ष एकत्रित होकर उसकी हरकतों के खिलाफ आक्रोश व्यक्त भी किया।

पुलिस से आरोपित को लोगों को सौंपने की मांग भी कर रहे थे। दूसरी ओर उसके स्वजन पुलिस कार्रवाई का विरोध कर रहे थे। इस दौरान आरोपित के स्वजनों व आम लोगों के बीच हल्की झूमाझटकी हुई। कुछ वाहनों के कांच भी ताड़े गए। दोनों पक्षों को चोट भी लगी।

हालांकि पुलिस ने जल्द ही दोनों पक्षों को शांत करा लिया। पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इस दरमियान आरोपित सूर्या सिंह के पूरे परिवार, उनकी मां भी लगातार पुलिस कार्रवाई का विरोध करती रही। कलेक्टर निवास के समक्ष काफी देर तक उसकी मां ने खड़ी रह कर विरोध प्रदर्शित किया। हालांकि दोपहर के बाद पुलिस ने आरोपित की मां और उनके परिजनों को वापस घर भेज दिया।

मीडियाकर्मियों से की बदसलूकी

घटनाक्रम के दौरान मामले की वस्तुस्थिति जानने के लिए जब मीडिया के कुछ लोगों के द्वारा आरोपित के स्वजनों से पूछताछ की गई तो उन्होंने जानकारी देने के बजाय मीडिया से बदसलूकी की। इसे लेकर मीडियाकर्मियों में भी नाराजगी है।

पहले भी आरोपित सूर्या व उसके भाई भूपेंद्र किए जा चुके हैं गिरफ्तार

पूर्व में भी एक महिला जनप्रतिनिधि के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में सूर्या चौहान की गिरफ्तारी की जा चुकी है। फिलहाल मामला न्यायालय में लंबित है। उसके एक भाई भूपेंद्र चौहान जो भूतपूर्व सैनिक है, उसके खिलाफ भी एक नाबालिग बालिका से दुष्कर्म के मामले में फोटो को इंटरनेट मीडिया में वायरल करने के आरोप में न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया था

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local