बेमेतरा। श्री पाटेश्वरधाम क्षेत्र को अपवित्र कर सनातन धर्म की मर्यादा को खंडित कर सामाजित समरसता बिगाड़ने वाले अवांछित तत्वों पर ठोस कार्रवाई करने की मांग को लेकर बेमेतरा क्षेत्र के श्रद्धालुओं ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम विधायक आशीष छाबड़ा को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

ज्ञापन सौंपने के दौरान बताया गया कि छत्तीसगढ़ की पावन भूमि में जन्म लेने वाली माता कौशिल्या का विश्व का प्रथम मंदिर पाटेश्वरधाम में 25 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन है, जो भव्य एवं विशाल होगा। यह मंदिर सनातनियों की आस्था व श्रद्धा का प्रमुख केंद्र होगा तथा भविष्य में छग की विशिष्ट पहचान बनेगा। यहां से धर्म और मानव उत्थान के अनेक प्रकल्पों तथा सेवाकार्यों का संचालन होगा, जिसका समाज तथा राष्ट्र को व्यापक लाभ होगा, परंतु कुछ विघ्नसंतोषी तत्वों को यह नागवार गुजर रहा है। पिछले एक मई को घटित घटना के दोषियों पर प्रशासन द्वारा अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है, बल्कि पीड़ित पक्ष के लोगों पर ही झूठा मुकादमा दर्ज कर दिया गया है।

अनेक अवांछित तत्व पाटेश्वरधाम तथा महंत श्री रामबालकदास जी पर अमर्यादित टिप्पणी कर रहे हैं। ऐसा कई बार हो चुका है और हर बार प्रशासन की भूमिका संदिग्ध रही है। भक्तों ने कहा साजिश के तहत हमारे संतों तथा देवस्थलों को निशाना बनाया जा रहा है जिसे हम सहन नहीं करेंगे।

नागरिकों ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाए तथा पाटेश्वरधाम व महंत रामबालकदास जी को पुलिस की स्थायी सुरक्षा प्रदान की जाए। मांग करने वालों में नारद साहू, राजा पांडेय, रामकुमार साहू, ऋषिकांत सिन्हा, उमेश यदु, रोमेश साहू, डेरहा राम, मिलन साहू, मंशाराम, जगतराम, रामसागर, बृजेश शर्मा, भरत वर्मा, रमेश, जीवराखन, हेमलाल, भारत, संतोष साहू, डुगेश, सुशील कुमार, मूलचंद साहू, लीलाराम, सोनू साहू, रामकुमार सिन्हा, गोकुल साहू आदि शामिल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close