बेमेतरा(नईदुनिया न्यूज)। बेमेतरा के जिला गठन के बाद कई तरह की ऐसी घटनाएं हो रही है जो बेमेतरा को शर्मसार करने वाली बात कही जा सकती है। कुछ इसी तरह की घटना शुक्रवार की रात्रि में भी हुई, जहां कोलकाता की तीन युवतियां नशे में धुत रायपुर रोड के एक ढाबे के पास हंगामा कर रही थी, जिसे देखने के बाद कुछ लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम में दी। मौके पर पहुंचकर पुलिस इन तीनों युवतियों को ले जाकर सखी सेंटर में रखा। इसके बाद दूसरे दिन प्रतिबंधात्मक धारा लगाकर महिलाओं को जेल भेज दिया गया। लेकिन इस कार्रवाई से ऐसा लगता है कि पुलिस ने महज 151 की धारा लगाकर इस मामले में एक तरह से पर्दा डालने का प्रयास किया है।

आखिर इस मसले पर पूछताछ पुलिस आवश्यक क्यों नहीं समझी

पूरे दिन शहर में इस बात को लेकर चर्चा होती रही कि जब कोलकाता की युवतियों को राष्ट्रीय राजमार्ग पर रात्रि में हंगामा करते हुए पुलिस ने देखा तो इस मसले पर तह तक जाना आवश्यक क्यों नहीं समझा कि इन युवतियों यहां कौन बुलाया था। रात्रि में युवतियां कहां थी और शराब के नशे में हंगामा करते हुए बेमेतरा से चार किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग पर कैसे पहुंची। इस तरह के कई सवाल खड़े हो रहे हैं, जो कि पुलिस कार्रवाई पर एक तरफ से सवालिया निशान भी लगा रही है। इस संबंध में जब कोतवाली प्रभारी राजेश मिश्रा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि युवतियां सड़क पर हंगामा करते हुए मिली, जिसके बाद इन्हें प्रतिबंधात्मक धारा के तहत कार्रवाई कर जेल भेज दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस