बेमेतरा (नईदुनिया न्यूज)। जिले में 16 जून से नए शिक्षण सत्र का आगाज हो चुका है लेकिन निगरानी के अभाव में स्कूलों में ना तो शिक्षक समय पर पहुंच रहे है। ना ही सही तरह से शैक्षणिक कार्य संचालित किया जा रहा है। जबकिराज्य शासन ने बकायदा निर्देश सभी जिलों में जारी किया हैकि 16 जून से 15 जुलाई तक स्कूलों की सतत निगरानी करें। टीम निगरानी के दौरान संचालित स्कूलों में शैक्षणिक गतिविधियों को देखने के साथ-साथ शिक्षक समय पर उपस्थित होकर अध्यापन आदि कार्य कर रहे, लेकिन जिले के कई स्कूलों में शिक्षक दिशा-निर्देश का पालन नहीं कर रहे है।

कई स्कूलों में शिक्षक अनुपस्थित : नए शिक्षण सत्र का आगाज हुए 10 दिन बीत हो चुके हैं किंतु जिला शिक्षा अधिकारी बेमेतरा के द्वारा किए गए निरीक्षण के उपरांत अधिकांश स्कूलों में शिक्षक मौके पर अनुपस्थित पाए गए हैं ।जो इस बात की पुष्टि अवश्य ही करता है कि पूरे 10 दिन बीत जाने के बाद भी जिले में शैक्षणिक गतिविधियां पटरी पर नहीं आ पायी। शिक्षक अभी भी समय पर स्कूल पहुंचना आवश्यक नहीं समझ रहे हैं ।राज्य शासन के दिए गए निर्देश के बाद स्कूलों की सतत निगरानी नहीं हो रही है। हालांकि इस संबंध में 23 तारीख को जिला प्रशासन के द्वारा एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें स्कूलों का लगातार निगरानी करने का निर्देश तो दिए गए हैं, लेकिन मौजुदा हालात में कोई सुधार नहीं हुआ है।

पालकों की बढ़ी चिंता : कोविड-19 के बादनए शिक्षण सत्र की शुरुआत व्यवस्थित रूप से हो सके इसके लिए लगातार शिक्षा व्यवस्थ्था को बेहतर किया जा रहा है, लेकिन ऐसा कहीं पर भी प्रतीत नहीं हो रहा है। अधिकांश स्कूलों में शिक्षक नदारद पाए जा रहे हैं। वहीं प्रशासन इस तरह के शिक्षकों पर कार्यवाही करने की बात तो कह रहे है, लेकिन क्या शिक्षक स्वयं की जिम्मेदारी नहीं समझ रहे है। इन्हीं सब गैर जिम्मेदाराना रवैया के चलते अब पलकों की चिंता भी बढ़ गई है।

गैरहाजिर होकर भी ले रहे वेतनः ग्रामीण बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाने की मंशा से लगातार स्वामी आत्मानंद स्कूल के नाम पर अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोलने की पहल की जा रही है। इन शासकीय स्कूलों में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं का भविष्य तो उन्हीं शिक्षकों पर निर्भर है ।जिनकी नियुक्ति इन स्कूलों में की गई है ।जिसमें कई ऐसे भी शिक्षक हैं जो कि नए शिक्षण सत्र खुलने के बाद भी अब तक स्कूल के तरफ रुख नहीं किए हैं। शासन से वेतन भी भरपूर ले रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close