देवरबीजा। नईदुनिया न्यूज

साजा ब्लॉक के ग्राम पंचायत तेंदुभाठा में संचालित शासकीय प्राथमिक शाला में शिक्षक की कमी करीब पांच से छह माह से है। यहां एक शिक्षक के भरोसे 57 बच्चे पढ़ रहे है। ग्रामीणों के द्वारा शिक्षा विभाग एवं घोटवानी संकुल समन्वयक को शिक्षक की कमी के बारे में कई बार अवगत कराया गया था, लेकिन उन्होंने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। इसलिए 14 जनवरी को समस्त ग्रामीणों के द्वारा स्कूल के गेट में ताला जड़ दिया। स्कूल में ताला जड़ने की सूचना पर विकासखंड शिक्षा अधिकारी डॉ नीलिमा गडकरी खुद मौके पर पहुंची और आनन-फानन में शिक्षक की व्यवस्था कराई।

स्कूल में शिक्षक की कमी को नईदुनिया में प्रमुखता से प्रकाशित भी किया था। स्कूल में ताला लगने की सूचना मिली तो शिक्षा विभाग में हडकंप मच गया और मामले को गंभीरता को देखते हुए साजा विकास खंड शिक्षा अधिकारी डॉ.नीलिमा गडकरी खुद तेंदुभाठा प्राथमिक शाला पहुंची और साथ में एबीओ लीलाधर सिंहा भी थे। कुछ देर बाद संकुल संमवयक इंद्रेश बंजारे भी पहुँचे। बीईओ गडकरी ने कहा कि जब एक शिक्षक का व्यवस्था शनिवार को कर दिया गया था तो कैसे नहीं आये जानकारी लेना पड़ेगा। ताला लगने के बात में संकुल संमवयक को बीईओ ने फटकार लगाई। बीईओ ने ग्रामीण आत्माराम, नीलकंठ, प्रह्लाद, डोमार गोड़ अध्यक्ष शाला प्रबंधन समिति बेदराम पटेल, सुरेश यादव, भीखम, चितरेन, सुखदेव, शोभा यादव उपाध्यक्ष शाला कांतु पंच, विजय कुमार ठाकुर, नेमीचंद गुलशन कश्यप, नीलकंठ पंच एवं अन्य ग्रामीणों को बताये कि मोहतरा संकुल केंद्र के हडुवा प्राथमिक शाला की शिक्षिका मेनका तिवारी का तेंदूभाठा प्राथमिक शाला में किए है। तब ग्रामीणों ने स्कूल का ताला खोले ग्रामीणों ने मध्या- भोजन के बारे में भी बताया तो बीईओ ने समूह वाले से फोन करके बात की।

Posted By: