रांका (नईदुनिया न्यूज)। बेमेतरा उपडाकघर के अंतर्गत ग्राम रांका में स्थित पोस्ट आफिस के समय पर नहीं खुलने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। अप्रैल से मई महीने तक डेढ़ महीने से रांका पोस्ट आफिस का कार्यालय बंद था। जिसके चलते 11 गांवों के करीब 15 सौ खाताधारकों के खाता में न तो लेनदेन हो पाया न ही इन गांवों में चिट्ठियां बांटी गई।

इसके चलते लोग पैसा जमा करने व निकासी के लिए भटकते रहें। इस बीच रांका में दो पोस्टमास्टर बदल गए लेकिन उसके बाद भी व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हो पाया। जिसका खामियाजा खाताधारकों को भुगतना पड़ रहा है।

कार्यालय बंद रहने की वजह से डाक सेवा से मिलने वाले चिट्टियां, पैनकार्ड, सहित अन्य चीजे लोगों को समय पर नहीं मिल पाया। इसके अलावा जमा निकासी के कार्य भी प्रभावित रहा। डेढ़ महीने बाद कार्यालय खुलने पर अब खाताधारकों से अप्रैल व मई महीने का पैसा जमा करने पर छह रुपये से लेकर 50 रुपये तक विलंब शुल्क लिया जा रहा है। रांका पोस्ट मास्टर दीक्षा ठाकुर खुद स्वीकार कर रही हैं कि डेढ़ महीने तक कार्यालय बंद रहने की वजह से कार्य प्रभावित हुआ है। साथ ही काम का लोड ज्यादा होने के कारण केवल एक समय ही कार्यालय खुल रही है। उन्होंने कहा कि अप्रैल, मई महीने में जो खाताधारक पैसे जमा करेंगे उसे लेट फीस जमा करनी पड़ेगी। लेट फीस जमा नहीं देने पर राशि जमा नहीं ली जाएगी। बेमेतरा उपसंभागीय डाक निरीक्षक अरविंद सिंह ने कहा कि टेक्नीकल परेशानी आ जाने के कारण कार्य प्रभावित रहा। अब व्यवस्था बना दी गई है। जहां पहले की तरह काम शुरू हो चुका है।

एक महीने तक बंद रहा कार्यालय, पैसा निकालने भटकते रहें लोग

19 मार्च को रांका पोस्ट मास्टर कैलाश टंडन का दुर्ग प्रमोशन होने के बाद टिकेश्वर साहू को व्यवस्था में रखा गया लेकिन उनके द्वारा 30 अप्रैल तक परीक्षा अवधि में रहने की बात कह कार्यालय बंद रखा गया। इससे ले देन नहीं होने के कारण खाताधारक पैसा निकासी व जमा करने के लिए भटकते रहे। कार्यालय बंद होने के कारण कई खाताधारक बेमेतरा कार्यालय में पहुंचे गए। लेकिन उनको वहां भी यह कहकर लौटा दिया गया कि राशि निकासी तो होगी लेकिन अन्य कामकाज जहां खाता खुला है वही से किया जाएगा। जिससे खाताधारक बैरंग घर लौट गए। इधर 4 मई को दीक्षा ठाकुर को रांका का कार्यभार सौंपा गया।

चार घंटे बाद कार्यालय बंद करके चली जाती है पोस्ट मास्टर : बेमेतरा उपसंभागीय डाक निरीक्षक अरविंद सिंह ने बताया कि कार्यालय खुलने का समय सुबह 7 बजे से 10 बजे तक है। वही दोपहर में तीन बजे से पांच बजे तक कार्यालयीन समय तक खोलना रहता है। लेकिन रांका पोस्ट आफिस एक घंटे लेट यानी आठ बजे से 11 बजे तक खुल रहा है। उसके बाद पोस्ट मास्टर कार्यालय बंद कर चली जाती है। जिसके चलते शाम को पैसा जमा करने पहुंचने वाले खाताधारक कार्यालय बंद रहने से वापस लौट जाते है। पोस्ट मास्टर ठाकुर ने बताया कि काम का बोझ बहुत है। अकेले होने के कारण परेशानी हो रही है। जिसकी वजह से केवल एक समय ही कार्यालय खोल पाती हूं। शाम को दिनभर के काम को निपटाने में ही समय लग जाता है। जिससे कार्यालय बंद रखनी

पड़ती है।

11 गांवों के करीब 1500 खाताधारक करते हैं लेनदेन

पोस्ट मास्टर दीक्षा ठाकुर ने बताया कि रांका पोस्ट आफिस में झलमला, रांका, कठिया, कुरूद, पेन्ड्री, किरीतपुर, रवेली, तिवरैया, टेमरी, खम्हरिया सहित 11 गांव शामिल है। जहां करीब 15 सौ खाताधारकों ने खाता खुलवाया है लेकिन वे परेशान हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close