भिलाई। प्रधानमंत्री की युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में सेवा हेतु अग्निपथ योजना क्रांतिकारी और परिवर्तनकारी पहल है। इससे युवाओं को राष्ट्र सेवा और देश के लिए कुछ कर गुजरने का एक अमूल्य अवसर मिला है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बेरोजगारी भत्ता सहित कई लुभावने वायदे किए, युवा वर्ग को छला और अब अग्निवीर योजना का विरोध कर युवाओं को कांग्रेसी गुमराह कर रहे हैं।

आज भिलाई के होटल अमित पार्क में राज्यसभा सदस्य डा. सरोज पांडेय ने पत्रकार वार्ता में कहा कि अग्निवीर योजना से युवाओं की क्षमता व कौशल का निर्माण होगा, साथ ही देश का रक्षा तंत्र और भी सशक्त होगा।

चार साल की सेवा के बाद सबसे बेहतरीन 25 प्रतिशत अग्निवीरों को नियमित कैडर में जगह मिलेगी। शेष 75 प्रतिशत अग्निवीर केंद्रीय पुलिस बल, सीआरपीएफ, राज्य पुलिस बल व अन्य सरकारी या कार्पोरेट नौकरियों में चयन के लिए प्रतिस्पर्धा करने बाले अन्य उम्मीदवार की तुलना में अधिक सक्षम होंगे और योग्यता के आधार पर नौकरी पाने में सफल होंगे। यही जो प्रशिक्षण इन अग्निवीरों को दी जाएगी।

उसके लिए लाखों रुपये खर्च करने पर यह नसीब नही हो पाएगा।

उन्होंने कहा कि विपक्षीय दल इस योजना को गलत तरीके से युवाओं को परोस रहे है। कांग्रेस के एक विधायक ने युवाओं को उकसाने का काम किया है। जिसकी भारतीय जनता पार्टी कड़ी निंदा करती है। प्रदेश सरकार ने चुनाव में जो घोषणाएं की थी उन्हें पूरा करे।

उसके बाद ही भाजपा से सवाल करे। उन्होंने कांग्रेस के सत्याग्रह आंदोलन को नौटंकी बताते हुए कहा कि कांग्रेस व विपक्ष देशहित की योजना का विरोध करती है, देश की संपति को जो नुकसान हुआ है, उसके पीछे भी विपक्षी दलों का ही हाथ है। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, असम और हरियाणा सरकार ने भी अपने-अपने राज्यों की पुलिस और अन्य संबंधित सेवाओं में भर्ती के लिए अग्निवीरों को प्राथमिकता देने का ऐलान किया है।

कई निजी संस्थान भी इसके लिए आगे आए हैं और उन्होंने केंद्र सरकार के साथ मिलकर इस पर काम करने की इच्छा जताई है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने भी कहा है कि आयोग अग्निपथ योजना के तहत सशस्त्र बलों में शामिल होने वाले अग्निवीरों के कौशल को मान्यता देने की दिशा में काम करेगा।

अग्निवीर योजना के माध्यम से युवाओं को न केवल दुनिया की सबसे अनुशासित और प्रोफेशनल आर्मी के साथ काम करने का अवसर मिलेगा बल्कि ये योजना उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त भी कर रही है। वेतन के आलावा सेवा अवधि पूरी होने पर उन्हें 11 लाख 71 हजार रुपये कर मुक्त सेवा निधि पैकेज मिलेगा, जिससे वह आर्थिक रूप से भी सशक्त होंगे। अग्निपथ के तहत वायु सेना में 24 जून और थल सेना में दिसंबर से भर्ती होगी।

देश में सभी राज्यों की पुलिस मिला कर लगभग दो करोड़ पुलिस के जवान हैं। असम राइफल्स में 65 हजार, रेलवे पुलिस में 76 हजार, सीआरपीएफ में तीन लाख, बीएसएफ में 2.75 लाख, एसएसबी में 95 हजार, आईटीबीपी में 90 हजार सीआइएसएफ में 1.64 लाख जवान है।

इन सब में अग्निवीरों को प्राथमिकता मिलेगी। पत्रकार वार्ता में भाजपा के महामंत्री मार्कण्डेय तिवारी, नपाध्यक्ष जामुल ईश्वर ठाकुर, प्रमोद अग्रवाल, संतोष सिंह, प्रवक्ता सुभाष शर्मा, भूषण अग्रवाल ,पुरूषोत्तम देवांगन,मंजूसा साहू सहित अन्य उपस्थित थे।

--

हिन्दुत्व से मुहं मोड़ने का नतीजा

राज्यसभा सदस्य डा. सरोज पांडेय ने कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना अपना घर इसलिए नहीं बचा पाई क्योंकि हिन्दुत्व पार्टी की छवि से चुनाव जीता और सरकार बनाने पार्टी के नीति नियमों से ही समझौता कर लिया। अब जबकि उनका घर टूटा है तो भाजपा टूटे को बनाने मदद अवश्य कर सकती है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि महाराष्ट्र में जो कुछ हो रहा है उससे भाजपा का कोई लेना देना नही है।

--

राजस्थान की सरकार को हटा देना चाहिए

राज्यसभा सदस्य डा. सरोज पांडेय ने राजस्थान के उदयपुर में हुई घटना को लेकर कहा कि जो सरकार अपनी जनता की रक्षा नहीं कर सकती है वह सत्ता में रहने के लायक नही है। राजस्थान की कांग्रेस सरकार तुष्टिकरण का जीता जागता उदाहरण है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए अपशब्द कहने वालों का वह कड़ी निंदा करती है।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close