भिलाई। बुधवार को ट्रेन की चपेट में आने से सीएएफ के असिस्टेंट प्लाटून कमांडर (एपीसी) की मौत हो गई। मृतक मंगलवार को अपनी पदस्थापना वाले जिले से छुट्टी पर घर आने के लिए निकला था। ये कोई हादसा है या आत्महत्या, यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है। सुपेला पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू की है। पुलिस ने बताया कि मृतक एम तिग्गा (59) का निवास सीएएफ लाइन भिलाई सातवीं वाहिनी में है। उनकी पदस्थापना आठवीं वाहिनी राजनांदगांव में और वर्तमान में वे उसी बटालियन के बस्तर जिला के दरभा थानांतर्गत आने वाले पखनार चौकी में पदस्थ थे।

वे मंगलवार को अवकाश पर घर आने के लिए निकले थे। लेकिन, वे बुधवार तक घर नहीं पहुंचे। रात में वे नेहरू नगर के पास ट्रेन की चपेट में आ गए। पुलिस की जांच में पता चला है कि उनकी तबीयत खराब थी। जिसके कारण उनकी मानसिक स्थिति भी सामान्य नहीं थी। प्रथम दृष्टया यह मामला आत्महत्या का लग रहा है। परिवार वालों के बयान के बाद घटना का कारण स्पष्ट हो सकेगा। इसकी पुष्टि के लिए पुलिस ट्रेन के लोको पायलट का बयान लेगी।

दो दिन में दो चारपहिया वाहन हो गई चोरी

पद्मनाभपुर चौकी और उतई थाना क्षेत्र में दो दिन के भीतर बदमाशों ने दो चार पहिया वाहनों को चोरी कर लिया। दोनों मामलों में पुलिस से शिकायत की गई है। उतई पुलिस ने अज्ञात आरोपितों के खिलाफ चोरी की धारा के तहत प्राथमिकी दर्ज कर उनकी पतासाजी शुरू की है।

पुलिस ने बताया कि पवित्र नगर उमरपोटी निवासी पुंडलिक पाटिल ने उतई थाना में चोरी की प्राथमिकी दर्ज कराई है। शिकायतकर्ता बीएसपी से सेवानिवृत्त है और अपने घर से लगी दुकान में हार्डवेयर का कारोबार करता है। शिकायतकर्ता ने पिछले साल एक सेकंड हैंड मालवाहक टाटा एस खरीदी थी और उससे ही हार्डवेयर के सामान को ग्राहकों के घर तक पहुंचाया जाता था।

शिकायतकर्ता ने नौ अगस्त की रात को गाड़ी को अपने घर के पीछे स्थित खाली प्लाट में रखा था। बुधवार की सुबह शिकायतकर्ता ने पीछे जाकर देखा तो उसकी गाड़ी वहां से गायब थी। चोरी गए गाड़ी की कीमत 50 हजार रुपये आकी गई है। दूसरे मामले में आनंद विहार कालोनी कुंदरा पारा दुर्ग निवासी विजय गोपाले ने घटना की प्राथमिकी दर्ज कराई है। शिकायतकर्ता ने आठ अगस्त को अपनी कार क्रमांक सीजी-07 एयू 2235 को अपने फ्लैट के नीचे पार्किंग में खड़ा किया था। उसी रात को शिकायतकर्ता फ्लैट की पार्किंग में गया तो वहां से उसकी कार गायब थी। इसके बाद उसने पद्मनाभपुर चौकी में जाकर चोरी की प्राथमिकी दर्ज कराई। चोरी गई गाड़ी की कीमत 50 हजार रुपये आकी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close