भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

चारपाई पर लेटकर एसपी ऑफिस पहुंचे छावनी थाने के निगरानी बदमाश के आरोप गलत होते दिख रहे हैं। उसने अपनी शिकायत में छावनी थाने के तीन जवानों पर आरोप लगाया था कि पैसे न देने पर पुलिस जवानों ने पीटकर उसकी दोनों टांगें तोड़ दी हैं। उक्त मामले की शिकायत के बाद एसपी ने इसकी जांच शुरू करवाई है। प्रारंभिक जांच में पुलिस ने उस डॉक्टर से बात की है, जिसने निगरानीशुदा बदमाश का इलाज किया था। उसने डॉक्टर से गिरकर घायल होने की जानकारी दी थी।

बता दें कि चटाई क्वाटर कैंप-2 निवासी अब्बास खान (23) ने एसपी से शिकायत कर आरोप लगाया था कि छावनी थाने के तीन आरक्षकों ने उसकी आठ अक्टूबर को बेदम पिटाई थी। तीनों आरक्षकों ने उसे इतना मारा था कि उसकी दोनों टांगें टूट गई थी। वह चारपाई पर लेटकर एसपी से मिलने पहुंचा था और वहां पर उसनी बात रखी थी। उक्त घटना की शिकायत मिलने पर एसपी प्रखर पांडेय ने छावनी सीएसपी विश्वास चंद्राकर को इसकी जांच के लिए निर्देशित किया था। जिसके आधार पर जांच शुरू की गई है।

अब्बास खान का इलाज करने वाले डॉ. राजेंद्र जैन से भी पुलिस ने चर्चा की है। चर्चा में डॉ. जैन ने पुलिस को जानकारी दी है कि वह मरीज इलाज के लिए पहुंचा था तो उसने पेड़ से गिरने की जानकारी दी थी। जिसके आधार पर उसका एक्स-रे आदि किया गया और पैरों पर प्लास्टर किया गया था। डॉक्टर ने मरीज की जांच रिपोर्ट देखकर और जानकारी देने की बात कही है। डॉक्टर के प्रारंभिक बयान के आधार पर यह स्पष्ट हो गया है कि आरोप में सच्चाई का अभाव है।

बाक्स...

अब्बास के खिलाफ दर्ज हैं 14 मामले

बता दें कि जिस अब्बास खान ने पुलिस जवानों के खिलाफ एसपी से शिकायत की है, वह खुद छावनी थाने का निगरानीशुदा बदमाश है। उसके खिलाफ मारपीट, बलवा, रास्ता रोकने, छेड़खानी, जुआ एक्ट, आर्म्स एक्ट और नार्कोटिक एक्ट के तहत अपराध दर्ज हैं। आपराधिक पृष्ठभूमि को देखते हुए पुलिस ने उसे निगरानीशुदा बदमाशों की श्रेणी में रखा और उसकी हिस्ट्रीशीट खोली है।

उसकी फिर से जांच कराई है

अब्बास खान के चोट के बारे में जानकारी लेने के लिए उसका शासकीय अस्पताल में मुलाहिजा कराया गया है। अभी तक वहां से जांच रिपोर्ट नहीं मिली है। उसका इलाज करने वाले डॉ. राजेंद्र जैन से बात की गई तो उन्होंने बताया है कि अब्बास ने उन्हें गिरकर घायल होने की बात बताई थी। बाकी इस मामले की जांच की जा रही है। जांच पूरी होने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

-विश्वास चंद्राकर, सीएसपी छावनी

Posted By: Nai Dunia News Network