भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

कम संसाधन में जीने का तरीका और कबाड़ से जुगाड़ लगाने का हुनर बच्चे सिखा रहे हैं। साफ-सफाई का संदेश देने से पहले खुद इस पर अमल कर रहे हैं। इलेक्ट्रानिक सामान के बजाय लकड़ी और बांस से खुद ही घर का जरूरी सामान बनाया है।

टिकाऊपन और मजबूती की गारंटी भी। ऐसा, इसलिए कि संकट के समय में जिंदगी को आसानी से गुजारी जा सके। साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा की 150वीं जयंती को यादगार ही बना दिया। सभी धर्मों की पुस्तक और एकजुटता का संदेश भी दिया।

बीएसपी के तीन दिवसीय स्काउट-गाइड शिविर का शुभारंभ सोमवार को सेक्टर-8 बीएसपी में हुआ। बीएसपी स्कूलों के 300 से ज्यादा बच्चों की मस्ती पर बारिश ने पानी फेरा। लेकिन इनका हौसला कम नहीं हुआ। स्कूल ग्राउंड में कैंप को सजाकर रहने का तरीका बनाने के मकसद से बच्चे तैयारी कर रहे थे। लगातार बारिश से मैदान में पानी भर गया। प्रबंधन को आनन-फानन में कार्यक्रम को सीमित करना पड़ा। मैदान के बजाय क्लास रूम बच्चों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

बच्चों में काफी उत्साह रहा। बच्चों ने कबाड़ से जुगाड़कर विभिन्न प्रकार की कलाकृति तैयार की। आकर्षक सोफा, कुर्सी, ड्राइंग टेबल, गुलदस्ता, बर्तन स्टैंड, शूज स्टैंड बनाया।

प्रतिभाओं की झड़ी लगी

प्रतियोगिता में भिलाई सेक्टर-2 चन्द्रशेकर आजाद ग्रुप के बच्चों ने बांस एवं साइकिल की पुरानी रिंग से आकर्षक ड्राइंग टेबल, लालटेन स्टैंड, समेत अन्य घरेलु उपयोगी सामान बनाया। इसी प्रकार बीएसपी सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर-6 के शिवाजी दल द्वारा स्वच्छता पर संदेश दिया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की याद को बच्चों ने अपनी कलाकृति से उकेरा। चरखे के साथ स्वच्छता और पर्यावरण के लिए भी कलाकृति बनाई। इसी तरह लक्ष्मी बाई सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर-4 की टीम ने कबाड़ से जुगाड़कर हरियाली लाने का एक अनोखा प्रयास किया।

पर्यावरण पर आधारित भरतनाट्यम

बीएसपी गर्ल्स हॉयर सेकेंडरी स्कूल खुर्सीपार की लड़कियों ने पर्यावरण को बचाने के लिए आम जन मानस को जागरुक किया। नृत्य के माध्यम से संदेश केा प्रसारित किया। भरतनाट्यम की प्रस्तुति देने वाले कलाकारों ने पर्यावरण के वेश में इसे बचाने का पैगाम दिया।

बारिश से मार्च पास्ट व टेंट पिचिंग पर ब्रेक

स्काउट-गाइड रैली से पूर्व बारिश की वजह से कई कार्यक्रम को कैंसिल करना पड़ा। बच्चों द्वारा सबसे महत्वपूर्ण मार्च पास्ट होना था, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। मैदान के बजाय स्कूल के हॉल में कार्यक्रम हुआ। इसलिए मार्च पास्ट को कैंसिल कर दिया गया। इसके साथ ही टेंट पिचिंग का भी बच्चों द्वारा प्रदर्शन नहीं किया गया।

चॉकलेट गोलगप्पे का लीजिए लुत्फ

सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर-7 के साथ अन्य स्कूल की बच्चियों की ओर से व्यंजन प्रतियोगिता मंगलवार को होनी है। सुबह 11 बजे से अलग-अलग ग्रुप द्वारा इसे तैयार किया जाएगा। एक घंटे की स्पर्धा में 18 प्रकार के व्यंजन बनाकर प्रतिभा का प्रदर्शन किया जाएगा। इसमें मंचूरियन, चाकलेट गोलगप्पा, सूजी बड़ा, पनीर पकौड़ा, फु्रट, पनीर खीर, मिर्ची भजिया, मोदक, गोभी मंचूरियन, चाइनीज, बाटी-चोखा बनाएंगी। छात्रा प्रतिभा पाठक ने बताया कि इसके अलावा अन्य प्रकार के मिष्ठान आदि भी परोसे जाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network