भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्रदेश के पूर्व मंत्री बीडी कुरैशी का कहना है कि बिलासपुर हाईकोर्ट के आदेश पर बीएसपी और जिला प्रशासन अमल नहीं कर रहा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चश्मा के स्केच का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है।

गंदे स्थानों पर चश्मे की आकृति बनाई जा रही है, इससे अपमान हो रहा है। इसे हटाने के लिए बीएसपी सीईओ अनिर्बान दास गुप्ता और कलेक्टर अंकित आनंद को ज्ञापन सौंपा गया है। अगर, दोनों स्तर पर दीवारों से चश्मा हटाने का अभियान नहीं चलाया गया तो इसके बाद कांग्रेसी सड़क पर उतरेंगे। कांग्रेसी खुद शहरभर की दीवारों से इसे हटाएंगे।

पूर्व मंत्री का कहना है कि बिलासपुर हाईकोर्ट ने केंद्र एवं राज्य सरकार को शुलभ शौचालय, मलिन स्थानों में इसे लगाने पर प्रतिबंध किया है। बावजूद लगाया गया, जिसे हटाने कलेक्टर दुर्ग को ज्ञापन दिया गया। एक सप्ताह के अंदर अगर नहीं हटाया गया तो कांग्रेसजन स्वयं हटाएंगे। कलेक्टर ने गंदे स्थानों से तीन दिन के अंदर हटवाने का आश्वासन दिया है। ज्ञापन में बताया गया कि भिलाई आईटीआई के दरवाजे के समीप, झाडूराम देवांगन शासकीय विद्यालय, सेंट्रल लाइब्रेरी, पटेल चौक, कचहरी परिसर, भिलाई में सेक्टर-9 हास्पिटल एटीएम गेट के पास, सेक्टर-8, 6, 5, 4, प्रतिक्षालय पुल-पुलिया के नीचे गांधीजी की फोटो एवं चश्मे का स्केच बना हुआ है।

डबल बेंच के आदेश पर अमल नहीं हो रहा

बीडी कुरैशी ने बिलासपुर हाईकोर्ट में आठ दिसंबर 2016 को जनहित याचिका दायर किया था। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चश्मे एवं फोटों के स्केच को सुलभ शौचालय गंदे एवं मलीन स्थानों पर स्वच्छ भारत अभियान द्वारा बनाया जा रहा है। इसे अपमान जनक बताते हुए पूरे राज्यों से हटाने की मांग की गई थी। डबल बैंच के न्यायाधीशों ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए 23 मार्च 2017 को आदेश पारित किया कि सुलभ शौचालय एवं गंदे मलीन स्थानों से तत्काल इसे हटाया जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network