भिलाई (वि.)। औपचारिकेत्तर शिक्षक वर्ष 2000 से बेरोजगारी का दंश झेल रहे हैं। कई लोग उम्र अधिक होने की स्थिति में शासकीय कार्य करने में असमर्थ हैं। 20 वर्ष से बेरोजगारी झेल रहे औपचारिकेत्तर शिक्षकों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सकारात्मक पहल का आश्वासन दिया है।

बता दें कि छह नवंबर 2019 को रायपुर में अनुदेशक पर्यवेक्षकों की बैठक हुई थी, जिसमें तीन हजार से अधिक शिक्षक शामिल हुए। बैठक के बाद मुख्यमंत्री के जनचौपाल में 150 शिक्षकों को मिलने की अनुमति दी गई थी। औपचारिकेत्तर शिक्षकों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अपनी परेशानी से अवगत कराया, जिस पर सीएम ने सकारात्मक पहल का आश्वासन देते हुए मुख्य सचिव से जानकारी लेकर कार्रवाई करने की बात कही। औपचारिकेत्तर शिक्षक संघ के प्रतिनिधि मंडल में यशवंत दास बघेल, टिकेश्वर प्रसाद साहू, विष्णु वर्मा, दयाराम पटेल, महेश निषाद, लखन साहू, गोपीचंद साहू, उद्धव वर्मा आदि शामिल रहे। मीडिया प्रभारी मोचन कुमार शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा पहल किए जाने की बात से शिक्षकों में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस